Latest News

घरों के साथ-साथ वट वृक्ष की पूजा कर पति की मांगी दीर्घायु

लाकडाउन के चलते फीका रहा त्योहार 
 
फतेहपुर, शमशाद खान । कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए चल रहे लाकडाउन का पालन कराये जाने के लिए जिलाधिकारी के निर्देशन में बरगदाही अमावस्या पर सुहागिन महिलाओं ने घरों पर पूजा-अर्चना की। वहीं तमाम महिलाएं ऐसी भी रहीं जिनको लाकडाउन से कोई लेना-देना नहीं रहा और वह वटवृक्ष के समीप पहुंच कर पूरे रीति-रिवाज के साथ पूजा-अर्चना कर पति की दीर्घायु मांगी। सुहागिन महिलाओं ने निर्जला व्रत रखा।
वटवृक्ष की पूजा-अर्चना करतीं महिलाएं।
बताते चलें कि कोरोना संक्रमण में चल रहे लाकडाउन के बीच जिलाधिकारी संजीव सिंह ने लोगों का आहवान किया था कि बरगदाही अमावस्या का पर्व घरों पर ही मनायें। वायरस को फैलने से रोके। डीएम के निर्देश के बावजूद महिलाएं नहीं मानी। हालाकि तमाम महिलाओं ने घर पर पूजा-अर्चना की। लेकिन ज्यादातर महिलाएं सुबह सात बजे से श्रंृगार करके वटवृक्ष की पूजा करने पहुंची। सिंचाई विभाग के वटवृक्ष की पूजा करने मे महिलाओं की भीड़ देखी गयी। रेलवे कालोनी, हरिहरगंज, कलक्टरगंज, शांतीनगर, देवीगंज, जयरामनगर, आबूनगर, पटेलनगर समेत अन्य जगहों मे महिलाओं ने वटवृक्षों की पूजा की। निर्जलाव्रत रहने के बाद ग्यारह कच्चे चने और वटवृक्ष की एक कोप खाकर व्रत तोड़ा। सुहागिन महिलाओं ने घर जाकर पति से आर्शीवाद लिया। हमारे खागा, बिन्दकी संवाददाता के मुताबिक क्षेत्र मे सुहागिन महिलाओं ने वटवृक्ष की पूजा करके पति की दीर्घायु मांगी। अमावस्या होने के कारण श्रृद्धालुओं ने लाकडाउन के बावजूद गंगा स्नान करने के लिए पतित पावनी की ओर अपना रूख किया। मां गंगा की विधिवत पूजा, अर्चना कर दान किया। कुछ ने बरगद पूजा भी घाट मंे सम्पन्न कर ली। 

1 comment: