Latest News

माध्यमिक शिक्षक संघ ने मूल्यांकन कार्य का किया बहिष्कार

ग्रीन जोन में मूल्यांकन कराये जाने को बताया दुर्भाग्यपूर्ण 
लाकडाउन की अवधि तक मूल्यांकन स्थगित करने की मांग 
   
फतेहपुर, शमशाद खान । उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के दौरान ग्रीन जोन वाले जनपदों मंे बोर्ड परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य मंगलवार से शुरू करा दिया गया। मूल्यांकन केन्द्र राजकीय बालिका इण्टर कालेज में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया। लाकडाउन की अवधि तक मूल्यांकन को रद्द किये जाने की मांग की गयी। 
जीजीआईसी केन्द्र में मूल्यांकन का विरोध करते शिक्षक संघ के पदाधिकारी।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष आलोक शुक्ला एवं मंत्री पुष्पराज सिंह की अगुवई में शिक्षकों ने राजकीय बालिका इण्टर कालेज में मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार किया। तत्पश्चात अध्यक्ष व मंत्री ने कहा कि संगठन के अध्यक्ष एवं विधान परिषद नेता शिक्षक दल ओम प्रकाश शर्मा व शिक्षक विधायक सुरेश कुमार त्रिपाठी द्वारा पांच मई से मूल्यांकन के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, प्रमुख सचिव, माध्यमिक शिक्षा एवं अन्य अधिकारियों को पपांच बार पत्र लिखे गये। जिसमें शिक्षकों के घर उत्तर पुस्तिकाएं भेजकर मूल्यांकन कराये जाने की बात कही गयी थी। इस पर शासन को रेड जोन एवं आरेन्ज जोन में मूल्यांकन स्थगित करना पड़ा लेकिन ग्रीन जोन में मूल्यांकन कराये जाने का निर्णय अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। ग्रीन जोन के बीस जनपदों के मूल्यांकन से परिषद का परीक्षाफल घोषित नहीं हो पायेगा। जनपद के बहुत शिक्षक साथी रेड एवं आरेंज जोन के जनपदों में फंसे हुए हैं। उनको आवागमन का साधन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा ग्रीन जोन में कुछ शिक्षक 60 वर्ष की आयु के हैं। जिनके लिए स्वास्थ्य विभाग ने घरों में रहने की सलाह दी है। मांग की गयी कि लाकडाउन अवधि तक मूल्यांकन स्थगित किया जाये। इस मौके पर बृजेन्द्र सिंह, अशोक मिश्रा, डा0 विजय शंकर मिश्रा, अशोक वर्मा, जयेन्द्र वर्मा आदि मौजूद रहे। 

No comments