Latest News

बचाने के प्रयास में बहू और विवाहिता बेटी झुलसीं, हालत गंभीर

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल रेफर, एसपी मौके पर पहुंचे 

बबेरू, के0 एस0 दुबे । बबेरू कोतवाली क्षेत्र के परास गांव में मंगलवार की शाम को हृदय विदारक घटना हुई। चूल्हे से निकली चिंगारी ने आशियाने को आग का गोला बना दिया। गृहस्वामिनी की जिंदा जलकर मौत हो गई। जबकि उसे बचाने के प्रयास में मृतका की बहू और विवाहिता बेटी गंभीर रूप से झुलस गईं। सीएचसी से प्राथमिक उपचार के बाद हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर किया गया है। खबर पाकर पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचे और निरीक्षण किया। दमकल सूचना के दो घंटे बाद मौके पर पहुंची। 
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रोते-बिलखते परिजन
परास गांव निवासी लाल प्रसाद उर्फ ललवा गुप्ता अपने घर में ही परचून की दुकान किए है। मंगलवार की शाम तकरीबन चार बजे परिवार के सभी सदस्य घर के अंदर थे। बहू खाना बना रही थी। इसी बीच चूल्हे से निकली चिंगारी ने मकान को आग का गोला बना दिया। गृहस्वामिनी मुन्नी देवी (65) पत्नी लाला प्रसाद उर्फ ललवा गुप्ता आग की चपेट में आ गई, जिससे उसकी मौके पर ही जिंदा जलकर मौत हो गई। मुन्नी देवी को बचाने के प्रयास में उसकी बहू रेखा (35) पत्नी राजेश कुमार और मृतका की विवाहिता बेटी आरती (40) पत्नी संजय गुप्ता आग से गंभीर रूप से झुलस गईं। पड़ोसियों ने किसी तरह से दोनो को उठाया और ग्राम प्रधान इंद्रपाल यादव ने अपने बेटे के साथ बोलेरो जीप में लादकर रेखा और आरती को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भिजवाया। वहां पर प्राथमिक उपचार के बाद हालत गंभीर होने पर मृतका की बहू और बेटी को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। इस घटना से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। खबर पाकर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीणा मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। इधर, इलाकाई लोगों ने बताया कि फायर ब्रिगेड की गाड़ी सूचना देने के दो घंटे के बाद मौके पर पहुंची। 

2 comments: