Latest News

निकल रही बोरियां, दावों की खुली पोल

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। रामघाट में मंदाकिनी नदी से अनवरत बोरियों निकल रही हैं। ऐसे में सिंचाई विभाग के दावों की पोल खुली है। गत वर्ष मुख्यमंत्री पोर्टल में कहा गया था कि नदी में अब बोरियां ही नहीं है। जबकि अभी तक आधा सैकडा से अधिक ट्रैक्टर बोरियां नदी से निकाली जा चुकी है। 
बुन्देली सेना के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह ने जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह से मांग की है कि मां मंदाकिनी में घाट निर्माण के दौरान हुए बोरी घोटाले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ
निकाली गई बोरियां।
सख्त कार्यवाही की जाए। बताया कि नदीं में लाखों बोरियां छोड़ दी गई थीं। पिछले वर्ष से बोरियों के निकालने का दौर शुरू हुआ जो मौजूदा समय तक जारी है। सिंचाई विभाग ने पिछले वर्ष मुख्यमंत्री पोर्टल में लिखित रूप से बताया था कि नदी में अब बोरियां नहीं हैं, किन्तु बुन्देली सेना लगातार नदी में हजारों बोरियां पड़े होने की बात कहीं थी। इस वर्ष भी रामघाट के स्थानीय महंत वरुण अवस्थी, मत्तगजेंद्रनाथ मंदिर के व्यवस्थापक प्रदीप तिवारी और पर्णकुटी मंदिर के पुजारी बच्चू महाराज, अरुण गुप्ता, गुलजारीलाल आदि ने मंदाकिनी सफाई का अभियान शुरू कराया। हजारों बोरियां फिर नदी से बाहर की गईं। डीएम के निर्देशन में सिंचाई विभाग मंदाकिनी से बालूभरी बोरियां निकलवा रहा है। अब तक पचासों ट्रैक्टर बोरियां नदी से निकाली जा चुकी हैं और आगे यह अभियान चलता रहा तो अभी बोरियों के निकलने का दौर जारी रहेगा। बताया कि घाट निर्माण के समय लाखों रुपये का घोटाला किया गया है। उन्होंने मांग किया कि दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाए।

No comments