Latest News

अग्निकाण्ड: 47 घर खाक, महिला की मौत

5 गाय, 16 बकरी, 55 मुर्गे जिंदा जले, 13 झुलसे
बेघर हुए पीड़ितों को प्रशासन व समाजसेवियों ने पहुंचाई राहत 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। बीती शाम भीषण अग्निकाण्ड में 47 घर खाक हो गए। झुलसी महिला की सवेरे मौत हो गई। गाय, भैस, बकरी समेत मुर्गे लपटों की भेंट चढ़ गए। क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल हो गया। लगभग दस घंटे बाद आग ठंडी हुई। आशियाना उजड जाने से पीड़ितों को स्कूल में आश्रय मिला। प्रशासन व समाजसेवियों ने पहुंचकर ढाढस बंधाते हुए राहत प्रदान किया है।
अग्निकाण्ड के बाद आश्रय स्थल में बैठे बच्चे।
राजापुर थाना क्षेत्र के सुरवल गांव के मजरा बेहनन पुरवा में अचानक आग लग गई। इस दौरान तेज आंधी के चलते आग धू-धू कर एक घर से दूसरे घर तक फैलती गई। देखते-देखते 47 कच्चे घर जलकर खाक हो गए। कुछ पक्के घरों की गृहस्थी श्वाहा हुई है। गांव में आग की लपटों से चारों ओर चीख पुकार मच गईं। सूचना के एक घंटे बाद तक फायर बिग्रेड की टीम मौके पर नहीं पहुंची। कुछ घरों के गैस सिलेंडर फटने से आग ने भयंकर रूप धारण कर लिया था। लोग बच्चों को लेकर भागते नजर आ रहे थे। थाना पुलिस टीम के साथ पहुंची। करीब 11 घंटे की कडी मशक्कत बाद आग पर काबू पाया जा सका। भीषण आग से 19 परिवारों के पशुधन का नुक्सान हुआ है। जिसमे 5 गाय, भैंस, 16 बकरी, 55 मुर्गी शामिल हैं। 11 बड़े पशु और 2 बकरी गम्भीर रूप से झुलस गए। प्रधान शब्बीर खान ने बताया कि आग से पूरी बस्ती को भारी नुकसान हुआ है। सभी बेघर हुए हैं। लाखों रुपये की सामग्री गृहस्थी राख हो गई। लॉकडाउन के चलते वह रिश्तेदारों के घर भी नहीं जा सकते।

हाहाकार के बीच परिजनों को खोजते रहे बच्चे
चित्रकूट। क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में गर्मी आने पर आए दिन आग की घटनाए होती रहती है। जिसमेें कच्चे घर सहित गरीबों की झोपडिया जल जाती है। रविवार को सुरवल गांव के बेहन के पुुरवा में  आग का तांडव फिर से देखने को मिला। 47 परिवारों के लोग झोपडियों में रहते है। आग लगते ही जान बचाने को भागे। बच्चे परिजनों को तलाशते रहे।

No comments