Latest News

कोरोना वायरस कानपुर: कोरोना से छठवीं मौत और चार नए पाॅजिटिव केस मिले, आकंड़ा हुआ 257

जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का सिलसिला जारी है। सोमवार की सुबह हैलट के न्यूरो साइंस सेंटर के कोविड आइसीयू में भर्ती कोरोना पॉजिटिव महिला ने दम तोड़ दिया। महिला के अलावा प्राइवेट लैब की जांच में तीन पॉजिटिव केस सामने आने के बाद चार और संक्रमित बढ़ गए हैं। जिले में अबतक मिले कोरोना पॉजिजिटव की संख्या 257 हो गई है, जिसमें छह की मौत हो चुकी है, वहीं पहले 19 और सोमवार को 15 लोगों के ठीक हो जाने पर डिस्चार्ज किया गया है। इस तरह शहर में अबतक कोरोना पॉजिटिव 223 एक्टिव केस हैं। 
आमजा भारत कार्यालय संवाददाता:- चुन्नीगंज निवासी 64 वर्षीय महिला नाजुक स्थिति में रविवार सुबह 11:44 बजे हैलट के कोविड-19 आइसीयू में भर्ती हुईं थीं, उनका इलाज मेडिसिन के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. कुनाल सहाय की यूनिट में चल रहा था। डॉक्टरों के मुताबिक वह हाइपरटेंशन की मरीज थीं, उन्हें बुखार के साथ सांस लेने में दिक्कत होने पर भर्ती किया गया था। कोरोना संदिग्ध मानते हुए सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा था। सोमवार सुबह आई जांच रिपोर्ट में वह कोरोना पॉजिटिव मिलीं, गंभीर स्थिति को देखते हुए आइसीयू में वेंटीलेटर पर रखा गया।

आइसीयू में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इसके बाद आइसीयू का सैनिटाइजेशन कराया गया है। सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला ने बताया कि जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज से सोमवार सुबह 118 सैंपल की जांच रिपोर्ट आई है, जिसमें एक महिला कोरोना पॉजिटिव आई है। प्राइवेट लैब की रिपोर्ट में तीन कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। हैलट में भर्ती कोरोना पॉजिटिव महिला की मौत के बाद शव का दाह संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल के तहत कराया गया है।

कोरोना संदिग्ध चार मरीजों की मौत
जिले में रंजीत पुरवा निवासी 75 वर्षीय वृद्धा की मौत के तीसरे दिन जांच रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। वहीं शहर में रविवार को एसएएफ कर्मी के पुत्र समेत पांच कोरोना संदिग्धों की मौत हो गई। अर्मापुर के आयुध निर्माणी हॉस्पिटल में एक युवक और हैलट के न्यूरो सांइस सेंटर के कोविड आइसीयू में चार संदिग्धों ने दम तोड़ा।

रंजीत पुरवा निवासी 75 वर्षीय वृद्धा को बुखार व सांस फूलने की शिकायत पर स्वजन 29 अप्रैल को हैलट के कोविड-19 हॉस्पिटल की फ्लू ओपीडी लेकर आए थे। उन्हें गंभीर हालत में न्यूरो साइंस सेंटर के कोविड आइसीयू में शिफ्ट किया गया था। 30 अप्रैल को सुबह नमूना लेकर मेडिकल कॉलेज की कोविड लैब भेजा गया था। इसी दिन सुबह इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी। कोरोना संदिग्ध मानते हुए प्रोटोकॉल के तहत उनका दाह-संस्कार कराया गया था। रविवार सुबह कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी पर आइसीयू का सैनिटाइजेशन कराया गया। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज और लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) से आई जांच रिपोर्ट में मृत वृद्धा के साथ ही जनरलगंज के कपड़ा कारोबारी के तीन स्वजन तथा हॉट स्पॉट के मदरसा छात्र समेत 14 अन्य संक्रमित मिले हैं।

एसएएफ के श्रमिक नेता छविलाल यादव ने बताया कि चालक का पुत्र कुछ दिनों से बीमार था। उसे रविवार सुबह 7 बजे हॉस्पिटल लाए थे, जहां इलाज क दौरान उसकी मौत हो गई। शव को पोस्टमार्टम के लिए हैलट भेजा गया है। कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया है। उधर, हैलट के न्यूरो साइंस सेंटर स्थित कोविड आइसीयू में मरने वालों में महाराजपुर और हमीरपुर के 45-45 वर्षीय अधेड़, मूसा नगर के 65 वर्षीय बुजुर्ग एवं एटा की 43 वर्षीय महिला हैं। सभी को बुखार के साथ सांस लेने में दिक्कत पर शनिवार को भर्ती कराया गया था। जांच के लिए उनके सैंपल लेकर मेडिकल कॉलेज की कोविड लैब भेजा गया है। मौत के बाद सभी शव को सील कराकर मोर्चरी में रखवा दिया गया है।

No comments