Latest News

श्रमिक स्पेशल ट्रेन में आए 1570 परदेशी कामगार

थर्मल स्क्रीनिंग के बाद बसों से भेजे गए घर
जांच में कोई भी यात्री संदिग्ध नहीं मिला, सभी स्वस्थ 

बांदा, के0 एस0 दुबे । बड़ोदर (गुजरात) में लाकडाउन में फंसे उत्तर प्रदेश के 48 जिलों के रहने वाले 1570 प्रवासी श्रमिकों और उनके परिवारवालों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन यहां पहुंची। स्पेशल ट्रेन में चित्रकूटधाम मंडल के बांदा, हमीरपुर, चित्रकूट व महोबा तथा झांसी मंडल के झांसी, ललितपुर, जालौन समेत प्रदेश के 48 जिलों के श्रमिक यहां लाए गए। स्टेशन परिसर में सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई। इसके बाद बसों में बैठाकर घर भेजा गया। किसी भी यात्री में कोरोना का लक्षण न मिलने से प्रशासन ने राहत की सांस ली। इन श्रमिकों को पहले गांव के बाहर बनें क्वारंटीन सेंटर में 14 दिनों के लिए रखा जाएगा।
ट्रेन से उतरने के बाद चेकअप के लिए जाते परदेशी कामगार 
रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-दो स्पेशल ट्रेन के आने से पहले ही रेलकर्मी, जीआरपी, आरपीएफ, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी और कर्मचारी अपने तय स्थानों पर मौजूद रहे। गुरुवार को सुबह निर्धारित समय लगभग 6रू40 बजे जैसे ही श्रमिक स्पेशल पहुंची तो पहले से मौजूद जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल, एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा, एडीएम संतोष बहादुर सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट सुरेंद्र सिंह, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर आलोक मिश्रा, कोतवाली प्रभारी दिनेश सिंह, स्टेशन अधीक्षक एसके कुशवाहा, आरपीएफ थाना इंस्पेक्टर एसके जांगिड़ और जीआरपी थानाध्यक्ष रामबरन सिंह ने एक-एक कर बोगियों में सवार मजदूरों और उनके परिवारों को नीचे उतराया। सोशल डिस्टेसिंग के लिए बने सर्किल में खड़ा करवाया। उधर, परिवहन निगम की 70 बसों से यात्री अपने गंतव्य को रवाना किए गए।
सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खड़े श्रमिक स्पेशल ट्रेन में आए कामगार 

ट्रेन में सवार हुए 338 कामगार लापता 

बांदा। वड़ोदरा से श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 1908 कामगारों को सवार दिया गया था। बुधवार को सुबह जब श्रमिक स्पेशल ट्रेन बांदा पहुंची और श्रमिक स्पेशल ट्रेन से उतरे यात्रियों की गणना की गई तो कुल 1908 में से कुल 1570 कामगार ही निकले। 338 कामगार यात्रियों का पता नहीं चला। इस बात की जानकारी होते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। चित्रकूटधाम
परदेशी कामगारों को गंतव्य तक पहुंचाने के लिए तैयार खड़ीं रोडवेज बसें 
मंडलायुक्त गौरव दयाल ने मंडल के अधिकारियों को एलर्ट करते हुए अन्य जिलों के अधिकारियों को भी अवगत कराया है। संबंधित जिलों के अधिकारी भी चलती ट्रेन से उतर भागे यात्रियों की तलाश कर रहे हैं। 

No comments