Latest News

Positive India : पीएम और सीएम राहत कोष को भरने में कानपुर वाले भी हैं आगे

आमजा भारत सवांददाता:- कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में बचाव और राहत कार्य के लिए कानपुर वाले भी पीछे नहीं हैं। बड़े बड़े औद्योगिक घरानों के अलावा पुलिस और छोटे समूह भी पीएम और सीएम राहत कोष भरने में आगे आ रहे हैं। अभी तक सबसे बड़ी राशि 1.11 करोड़ रुपये कानपुर गौशाला सोसाइटी के अध्यक्ष ने दी है। वहीं जेके समूह 57 लाख और घड़ी समूह 55 लाख रुपये की राशि दे चुका है। यहा राशि राहत कोष में जमा कराई गई है।

गौशाला सोसायटी के अध्यक्ष ने दी बड़ी राशि
कानपुर गौशाला सोसायटी केक अध्यक्ष व समाजसेवी तिलक राज शर्मा ने मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ और प्रधानमंत्री केयर्स फंड में 11 लाख रुपये जमा किए हैं। उन्होंने उद्यमियों से अपील की है कि वे कोरोना के दिरुद्ध लड़ाई में सरकार की मदद करें। इसके अलावा घड़ी समूह ने पीएम केयर्स फंड में 55 लाख जमा किया है, इस वित्तीय सहायता के अलावा समूह मास्क, दूध, लंच पैकेट, खाद्यान्न, डिटर्जेंट केक, डिटर्जेंट पाउडर साबुन भी जरूरतमंदों के बीच वितरित किया है।

राहत कार्य में जेके समूह भी आया आगे
जेके समूह ने प्रधानमंत्री राहत कोष में 57 लाख रुपये दिए हैं। कंपनी के कर्मचारियों ने अपना एक दिन का वेतन इस फंड के लिए दिया है। कंपनी के वाइस प्रेसीडेंट अजय सरावगी के मुताबिक सीएमडी यदुपति सिंहानिया के निर्देश पर कंपनी के सभी चार हजार कर्मचारियों के वेतन में कोई कटौती नहीं होगी। इसके साथ ही कर्मचारियों ने समूह से जो ऋण लिया है, उसमें भी रियायत होगी। कंपनी जिन कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र दे चुकी हैं, उन्हें वर्क फ्राम होम की श्रेणी में रखते हुए पूरा वेतन दिया जाएगा। कंपनी अपने ढाई लाख डीलरों की देनदारियों में भी छूट देगी।

इन उद्यमियों ने सौंपी राशि
कानपुर एडबिल के सीएमडी सुनील गुप्ता और निदेशक मनोज गुप्ता ने बुधवार को जिलाधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी व सिटी मजिस्ट्रेट हिमांशु गुप्ता की मौजूदगी में मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 15 लाख और जिलाधिकारी राहत कोष में 11 लाख रुपये का चेक भेंट किया। इसी तरह उद्यमी सुरेंद्र नाथ शिवहरे ने 51 लाख रुपये का चेक सौंपा। एकता अग्रवाल ने 51 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी। एमवी वायर प्रोडक्ट प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक पुष्पेंद्र अग्रवाल व यश अग्रवाल ने दस लाख रुपये का चेक दिया।


कानपुर क्लाब और समाजसेवी ने भी दी मदद
कानपुर क्लब ने पांच लाख का दान दिया है। कानपुर क्लब के चेयरमैन आरसी सेठ ने बताया कि क्लब कमेटी के सदस्यों की सहमति के बाद पांच लाख रुपये दिए हैं। कांग्रेस नेता व समाजसेवी शरद मिश्रा ने प्रधानमंत्री केयर्स फंड में 11.50 लाख रुपये जमा किए हैं।

हाईस्पीड सेनेटाइज स्प्रे मशीन दी
ब्लू वर्ल्ड थीम पार्क के निदेशक प्रवीण मिश्र ने नगर निगम को अत्याधुनिक सेनेटाइज स्प्रे मशीन दी। यह मशीन 50 फीट दूर तक सैनिटाइज कर सकती है। 180 डिग्री मूवमेंट वाली यह मशीन 200 माइक्रो हाईस्पीड नोजल तकनीक से लैस है। उन्होंने पीएम राहत कोष में 2.21 लाख और एक लाख रुपये जिलाधिकारी राहत कोष में चेक से दिए।

पुलिस विभाग ने दिए 45 लाख
कोरोना महामारी से निपटने के लिए कानपुर नगर पुलिस ने भी मुख्यमंत्री राहत कोष में 45 लाख रुपये की सहायता दी है। सभी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों ने यह रकम एकत्र की। एसएसपी के वाचक कुंज बिहारी मिश्रा ने अपने एक माह का वेतन सहायता कोष में दिया है।

केस्को ने 25 लाख और जिला सहकारी बैंक ने दिए 1.80 लाख
केस्को अधिकारियों व कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में 25 लाख 26 हजार 600 रुपये दिए हैं। केस्को मीडिया प्रभारी सीवीएस चंद्रशेखर अंबेडकर ने बताया कि यह धनराशि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सरकार को दी गयी है। इससे गरीबों व जरूरतमंदों की मदद हो सकेगी। जिला सहकारी बैंक लिमिटेड ने 1.80 लाख की आर्थिक मदद मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया है। बैंक के सभापति अरविंद सचान ने बताया बैंक के अधिकारियों व कर्मचारियों ने एक दिन का ने वेतन सहायता कोष में दिया है।

कॉलेज संचालकों ने सीएम राहत कोष में दी राशि
कोरोना से जंग लड़ने की कड़ी में उप्र स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी ने बताया कि बुधवार को कई कॉलेज संचालकों ने अपने स्तर से 11 लाख रुपये तक की राशि सीएम राहत कोष में दी है ताकि इश राक्षस को हराया जा सके।

No comments