Latest News

फाइट फ्रॉम कोरोना: कोरोना की जांच को रफ्तार देगा कानपुर का जीसएसवीएम मेडिकल कॉलेज, Covid-19 लैब से रोजाना मिलेंगी 92 रिपोर्ट

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में जीत तभी संभव है, जब सौ फीसद संक्रमितों की पहचान कर आइसोलेट किया जा सके, इसके लिए हर संदिग्ध की जांच करना जरूरी है। ऐसे में उत्तर प्रदेश में कोरोना संदिग्ध की जांच को रफ्तार देने के लिए कानपुर भी खड़ा हो गया है। सोमवार से जीसएसवीएम मेडिकल कॉलेज की कोविड-19 लैब में सैंपल की जांच शुरू हो गई है। अब यहां से रोजाना 92 जांच रिपोर्ट जारी होंगी, इस लैब में कानपुर समेत आसपास 14 जिलों से आने वाले सैंपलों की जांच की जाएगी।
मंडलायुक्त और डीएम ने किया औपचारिक शुभारंभ
आमजा भारत सवांददाता:- जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में सोमवार को कोविड-19 लैब का औपचारिक शुभारंभ मंडलायुक्त सुधीर एम बोबडे और जिलाधिकारी डॉ ब्रह्मदेव राम तिवारी ने किया। पहले दिन 45 संदिग्धों के नमूने जांच के लिए लगाए गए। मंडलायुक्त ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता अधिक से अधिक जांच कराने की है। इसलिए शासन ने मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में आरटी पीसीआर मशीन मंगाई है, जो अब शुरू हो गई है। जिलाधिकारी डॉ. ब्रह्मदेव राम तिवारी ने कानपुर इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी की तरफ से मेडिकल कॉलेज की लैब को 110 पर्सनल प्रोटक्शन इक्विपमेंट (पीपीई) किट प्रदान की।

अभी तक लखनऊ भेजे जा रहे थे नमूने
कानपुर में अबतक सामने आए संदिग्धों के नमूने जांच के लिए लखनऊ के केजीएमयू और एसजीपीआई भेजे जा रहे थे। वहां से रिपोर्ट आने में समय लग रहा था और सिफ हाइरिस्क वालों की ही जांच की जा रही थी। साथ ही यहां पर ताकीद की गई थी कि सिफ हाईरिस्क वाले संदिग्धों का ही नमूना भेजा जाए। कानिका कपूर के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के बाद शहर में उनके संपर्क में आए 52 लोगों के नमूने भेजे गए थे।

इसमें लखनऊ से मामा व रिश्तेदारों समेत हाइरिस्क के 17 लोगों की ही जांच रिपोर्ट लखनऊ से निगेटिव आई थी। बाकी की सैंपल यह कहते हुए रिजेक्ट कर दिए गए थे कि अभी सिर्फ हाइरिस्क वालों की जांच के आदेश हैं। ऐसे में बाकी लोगों को स्वास्थ्य टीम ने होम क्ववारंटाइन करा दिया था। वहीं अभी तक पकड़ में आए तब्लीगी जमातियों में कोरोना संक्रमित मिले सदस्यों के संपर्क में आने वालों की जांच की जानी है। ऐसे में शहर में ही कोरोना जांच को लेकर मांग उठ रही थी।
दो शिफ्टों में होगी जांच, छह घंटे में आएगी रिपोर्ट
अभी यहां दो शिफ्टों में जांच होगी, एक बार में 46 नमूने लगाए जाएंगे। इस तरह दो शिफ्टों में 92 नमूनों की जांच रिपोर्ट आएगी। एक बार लगाए गए नमूनों की जांच रिपोर्ट छह घंटे में आ जाएगी। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य प्रो. आरती लालचंदानी ने बताया कि परिसर स्थित न्यू लैब ब्लॉक में बनी आधुनिक कोविड-19 लैब में अत्याधुनिक उपकरण लगाए गए हैं। इसे पूरी तरह से आइसोलेट रखा गया। यहां कार्यरत डॉक्टर और कर्मचारियों सभी सुरक्षा उपकरण प्रदान किए गए हैं। रोजाना कानपुर समेत 14 जिलों से मिलने वाले कोरोना संदिग्धों के नमूनों की जांच की जाएगी। लैब में दो शिफ्टों में काम होगा।

No comments