Latest News

@Corona : जनपद में मिला चौथा कोरोना पाजिटिव, हरकत में आया स्वास्थ्य महकमा

जिलाधिकारी ने भी नरैनी क्षेत्र का किया निरीक्षण, पूरा नरैनी कस्बा सील, हाट स्पाट घोषित 
जमवारा और नरैनी गांव को भी सील किया गया, नरैनी से तीन किमी तक बफर एरिया 
कोरोना पाजिटिव मरीज के साथ मप्र के हरदी गांव के भी कुछ युवक साथ आए थे, वहां भी प्रशासन सतर्क

बांदा, के0 एस0 दुबे । मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के रास्ते से होते हुए नरैनी कस्बे आए एक युवक की रिपोर्ट मंगलवार को कोरोना पाजिटिव आई है। यह जानकारी होते ही प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए। मेडिकल कालेज में मौजूद कोरोना पाजिटिव युवक को आईसुलेट कर दिया गया। इसके साथ ही नरैनी की ओर प्रशासनिक अधिकारियों और स्वास्थ्य अधिकारियों का काफिला दौड़ गया। जिलाधिकारी ने नरैनी क्षेत्र और बार्डर तक का निरीक्षण किया और स्वास्थ्य विभाग के साथ ही पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इसके साथ ही नरैनी कस्बे को हाट स्पाट घोषित करते हुए सील कर दिया गया है। कस्बे से तीन किलोमीटर का एरिया बफर जोन बनाया गया है। जमवारा और नरैनी गांव को भी सील किए जाने की खबरें प्रकाश में आई हैं। तकरीबन दो दर्जन लोगों को चिन्हित करते हुए जांच के लिए उठाया गया है। दावा किया गया है कि पाजिटिव मरीज छह घंटे तक नरैनी कस्बे और क्षेत्र में रहा और भ्रमण किया। इधर, पाजिटिव युवक के साथ आए मप्र के हरदी गांव के कुछ युवकों को भी मप्र प्रशासन ने उठा लिया है। 
नरैनी के अतर्रा रोड स्थित मोहल्ला रामनगर को सेनेटाइज करते कर्मचारी

नरैनी कस्बे के रामनगर निवासी शरीफुद्दीन पुत्र समसुद्दीन मुंबई में रहकर पेंटिंग का काम करता था। लाक डाउन होने के कारण जब काम बंद हो गया तो तकरीबन 20 दिनों तक वह मुंबई में ही रहा। फिर किसी तरह से वह पैदल और वाहनों के जरिए अपने पांच अन्य साथियों जो मप्र के हरदी गांव के रहने वाले थे, के साथ मध्य प्रदेश के पन्ना जिले पहुंचे। उसने अपने घर में मोबाइल के जरिए सूचना दी। शरीफुद्दीन मेडिकल गया और वहां जांच कराई। जांच में संदिग्ध पाए जाने पर उसका ब्लड सेंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया और संदिग्ध मरीज को मेडिकल कालेज में ही क्वारंटीन कर दिया गया। मंगलवार की सुबह रिपोर्ट आई तो शरीफुद्दीन कोरोना पाजिटिव निकला। इस पर उसे आईसुलेट किया गया है। सीएमओ डा. संतोष कुमार ने कहा कि पाजिटिव मरीज का उपचार किया जा रहा है। 

जिले में नया हाट स्पाट बना नरैनी कस्बा 
नरैनी। मुंबई से लौटने के बाद कोरोना पाजिटिव मरीज पाए जाने और शरीफुद्दीन की लोकेशन नरैनी में पाए जाने के बाद कस्बे को हाट स्पाट घोषित करते हुए सील किया गया है। कस्बे को बफर जोन बनाकर सभी लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग करने के साथ ही कस्बे को सेनेटाइज किया जा रहा है। अपर पुलिस अधीक्षक एलबीके पाल ने कोतवाली पहुंचकर पुलिस और चिकित्सकों के साथ आवश्यक बैठक की तथा जरूरी निर्देश दिए। उप जिलाधिकारी वन्दिता श्रीवास्तव ने बताया कि इसके घर से 1 किलोमीटर की परिधि को कंटोमेन्ट एरिया (हाट
नरैनी विधायक राजकरन कबीर रामनगर में जायजा लेते हुए
स्पाट) घोषित कर सील किया गया है। इसके अलावा पूरे कस्बा में 3 किलोमीटर परिधि के क्षेत्र को बफर जोन बनाया गया है। इस एरिया में किसी भी व्यक्ति को किसी भी कार्य के लिए बाहर निकलने की इजाजत नहीं दी जाएगी। एसडीएम ने बताया कि पार्टी युवक मध्य प्रदेश से यूपी में आने के बाद 6 घंटे तक क्षेत्र में रहा है। अभी नहरी और जमवारा गांव की जानकारी मिली है। वहां इस से मिलने वालों को चिन्हित किया जा रहा है। चिकित्सा अधीक्षक डा. बीएस राजपूत ने बताया कि चिकित्सकों तथा कर्मचारियों की कस्बे में 10 टीमें थर्मल स्क्रीनिंग के लिये बनाई गई हैं प्रत्येक टीम में दो कांस्टेबल 5 स्वास्थ्य परीक्षक तथा दो सफाई कर्मी नियुक्त किये गये हैं जबकि जमवारा की टीमों में उक्त टीम के साथ एक सब-इंस्पेक्टर भी साथ मे होगा।

जमवारा और नहरी गांव भी सील
 बांदा। नरैनी कस्बे के रामनगर मुहल्ला निवासी मुंबई से लौटा शरीफुद्दीन न सिर्फ अपने ननिहाल गया जमवारा गांव गया बल्कि पूरे छह घंटे तक नरैनी कस्बे में भी रहा। प्रशासनिक अधिकारियों का यह दावा है कि पाजिटिव मरीज अपने घर भी गया है। एसडीएम नरैनी वंदिता श्रीवास्तव ने पाजिटिव मरीज के मोबाइल नंबर को सर्विलांस के जरिए ट्रेस किया। सर्विलांस की रिपोर्ट आई तो हलचल पैदा हो गई। पूरे छह घंटे तक कोरोना पाजिटिव मरीज नरैनी कस्बे में रहा। अपने घर भी गया। इसके पूर्व वह अपने ननिहाल जमवारा गांव गया और वहां खाना
बाजार बंद कराते पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी
खाया। इसके बाद वहां से मोटरसाइकिल लेकर नरैनी कस्बे आया। इसके बाद युवक बाइक से मेडिकल कालेज पहुंचा। एसडीएम वंदिता श्रीवास्तव ने बताया कि पाजिटिव युवक शरीफुद्दीन के साथ मप्र के हरदी गांव के पांच युवक भी थे। यह सभी एक ट्रक में बैठकर अजयगढ़ तक आए। जबकि शरीफ मप्र की सीमा को पार कर करतल आ गया। इधर, मप्र प्रदेश के हरदी गांव के रहने वाले पांच अन्य साथी भी शरीफ के साथ थे, जो अपने गांव चले गए हैं। एमपी प्रशासन को जानकारी मिली तो एमपी प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने पांचों लोगों को उठाकर क्वारंटीन कराया है। इसके साथ ही जहां-जहां यह पांचों युवक गए तथा इनके आवास और इलाके को सेनेटाइज किया जा रहा है। 

जमवारा गांव और बार्डर तक डीएम ने किया निरीक्षण 
नरैनी। कोरोना पाजिटिव मरीज की जमवारा गांव और नहरी के साथ ही नरैनी कस्बे में सर्विलांस से लोकेशन ट्रेस होने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों में भी हलचल बढ़ गई।
रामनगर में थर्मल स्क्रीनिंग करते स्वास्थ्य कर्मचारी
जिलाधिकारी अमित सिंह बंसल मंगलवार को जमवारा गांव पहुंचे। वहां पर निरीक्षण करने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इसके साथ ही एमपी बार्डर तक जिलाधिकारी ने निरीक्षण किय और हालात का जायजा लिया।

No comments