Latest News

कानपुर:- आनंदेश्वर मंदिर के सेवादार ने लगाई फांसी

ग्वालटोली में तनाव के चलते आनंदेश्वर मंदिर के सेवादार ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। रविवार सुबह उसकी मौसी कमरे की साफ-सफाई करने पहुंची तो उसका शव फंदे पर लटकता मिला।
कानपुर आमजा भारत सवांददाता सचिन गुप्ता:- मूल रूप से उन्नाव के पुरवा त्रिपुरारपुर गांव निवासी शिवम उर्फ बाबू (23) बीते दस सालों से ग्वालटोली परमट में अपनी मौसी ऊषा शुक्ला के यहां रहता था। मौसेरे भाई बृजेश ने बताया कि वह उनके साथ आनंदेश्वर मंदिर में सेवादार था। पिछले कुछ दिनों से शिवम किसी बात को लेकर तनाव में चल रहा था। शनिवार देर रात सभी ने एक साथ खाना खाया और अपने कमरे में सोने चले गए। इस दौरान शिवम भी तीसरी मंजिल पर बने कमरे में जाकर सो गया। सुबह जब मौसी पुष्पा कमरे की साफ सफाई करने पहुंचे तो शिवम का शव साड़ी पंखे के सहारे फांसी पर लटकता मिला। युवक की मौत से कोहराम मच गया। ग्वालटोली पुलिस और फॉरेंसिक टीम ने जांच पड़ताल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं इस मामले में मंदिर के मीडिया प्रभारी अजय का कहना है कि युवक मंदिर में सेवादार का काम करता था, उसका मंदिर के पूजा पाठ संबंधी कार्य से कोई संबंध नहीं था।

No comments