Latest News

घर जाने की जद्दोजहद में भूले सोशल डिस्टेंस

फतेहपुर, शमशाद खान । उनके पास महानगरों से निकली भीड़ नए घर पहुंचने की आपाधापी में सोशल डिस्टेंस के मानक को भुला दिया। घर पहुंचने की जल्दी कहें या फिर साधन मिलने में हो रही दिक्कत को देखते हुए जिसे जहां जो साधन मिल रहा है उसी में सवार होकर किसी तरह से अपनी मंजिल पहुंचने की जद्दोजहद में लगा हुआ है। बुधवार को ऐसा ही नजारा भिटौरा बाईपास में देखने को मिला। लॉक डाउन के बाद काम बंद हो गया और रोजी रोटी की तलाश में शहर आये हुए लोगो को दो वक्त के खाने के लाले पड़ गये। ऐसे में वापस गांव जाने के लिये
सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाते ट्रक में सवार लोग।
भीड़ की शक्ल में लोग गाड़ियों में भर भर कर जाते हुए दिखाई दिए जो सोशल डिस्टेंस के मानक के विपरीत है। लेकिन वहानो के न मिलने के कारण लोग मजबूरी में अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे है। सड़कों पर वाहनों के न होने के कारण अधिकतर लोग पैदल या ट्रकों का सहारा ले रहे है। घर पहुंचने की कोशिश में कोरोना संक्रमण तक लोग भूल जाते है और सोशल डिस्टेंस बनाये रखना तो दूर की बात है भूसे की तरह ट्रकों में सवार होकर सभी मानकों को भूलकर व अपने एव अपनी सुरक्षा को ताख पर रखकर गंतव्य तक पहुंचना चाहते है। लोग शायद यह भूल जाते है कि जिस संक्रमण को देखते हुए आज देश मे लॉक डाउन किया गया है। एक साथ भीड़ की शक्ल में एकत्र होकर लोग उसी खतरे को बढ़ावा दे रहे है।

No comments