Latest News

राशन वितरण में सोशल डिस्टेंस का अभाव

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। तहसील क्षेत्र के गांवों में कोटेदारों के यहां भीड़ बढ़ने से सोशल डिस्टेंस का ध्यान नहीं दिया जा रहा है। तकनीकी खराबी के चलते कोटेदारों के यहां कंप्यूटराइज मशीनों में नेटवर्क समस्याएं बनी ही रहती है। राशन न मिल पाने से लोगों की भीड़ बढ़नी शुरू हो जाती है। राशन के इंतजार में तीन से चार घंटे तक आम जनता को इंतजार करना पड़ रहा
कोटेदार के यहां भीड़।
है। कोरोना महामारी संक्रमण के चलते पब्लिक गैदरिंग के खतरे व सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व को सभी जानते हैं । देश में कोरोना संक्रमण के खतरे व घोषित लाक डाउन के बीच गरीब, निर्बल वर्ग के लोगों को प्रतिदिन राशन सामग्री सरकार उपलब्ध करा रही है, परंतु कोटेदारों की मशीन के सर्वर मे खामी व कोटेदारों की मनमानी के चलते एकाएक भीड़ बढ़ जाती है। घंटों इंतजार के बाद भी जब राशन नहीं मिलता तो जनता निराश लौट जाती है। ऐसे में अधिकारियों को अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत है।

No comments