Latest News

लॉकडाउन के दूसरे चरण में नहीं मिली किसी तरह की छूट

डीएम-एसपी ने सड़को पर उतरकर सख्ती का पढ़ाया पाठ
सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने व घरों पर रहने की दी चेतावनी 
  
फतेहपुर, शमशाद खान । कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिये किये गये लॉकडाउन के बाद 20 अप्रैल से छूट मिलने के संकेत मिलने के बीच लॉकडाउन से राहत की उम्मीद लगाए बैठे लोगों को कोई रियायत नही मिली। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के न टलने पर सीएम द्वारा जिलों में छूट देने का अधिकार जिलाधिकारियों को दिया गया है। जनपद में कोरोना का एक भी केस न होने पर लोग छूट की उम्मीद लगाए हुए थे। लेकिन प्रशासनिक स्तर से लॉकडाउन यथावत रहने से लोगों को निराश होना पड़ा। सोमवार को जिलाधिकारी संजीव सिंह व पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा द्वारा शहर के मार्गो पर लगाये गए बैरियरों का निरीक्षण करने के साथ ही कई मोहल्लों के दौराकर लॉकडाउन तोड़कर इधर उधर घूमने वालो को गलियों में जाकर जमकर लताड़ लगाई गयी। अधिकारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने के साथ ही घरों पर ही रहने की चेतावनी भी दी। बड़ी संख्या में वाहनो का चालान कर दोबारा लॉकडाउन
शहर के मार्गों पर भ्रमण करते डीएम-एसपी।
का उल्लंघन करने पर मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिये गये। डीएम एसपी का काफिला पथरकटा चैराहे पहुंचा। जहाँ बड़ी संख्या में लॉकडाउन तोड़कर निकलने वालो को रोककर पूछ्ताछ की गयी। संतोषजनक जवाब न देने पर कई वाहनों का चालान किया गया। साथ ही लोगो से कोरोना संक्रमण से बचने के लिये लॉकडाउन का पालन कर घरो में ही रहने का निर्देश दिया गया तत्पश्चात बाकरगंज चैकी स्थित बेरिकेट्स पहुंचे जहां लोगों की आवाजाही पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बिना जरूरत के निकलने वालो पर कार्रवाई करने के निर्देश दिये। डीएम-एसपी द्वारा चैगलिया, छोटी बाजार, लाला बाजार आदि क्षेत्रो में सड़कों पर टहल रहे लोगो पर सख्ती दिखाते हुए मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी दी गयी। अस्पताल, दवाई समेत अन्य आवश्यक कार्यो से निकलने वाले भी पुलिसिया सख्ती के शिकार हो गये और चलान से बचने के लिये अधिकारियों की मिन्नते करते देखे गये। प्रशासन व पुलिस का सख्त रुख देखकर लॉकडाउन के दूसरे चरण में कुछ अन्य दुकानों के खुलने समेत अन्य राहत मिलने व कामकाज शुरू होने की उम्मीद लगाए बैठे लोगो को निराशा ही हाथ लगी।

No comments