Latest News

लापरवाही पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट्स तलब

बिजनौर, संजय सक्सेना - कोरोनटाइन सेन्टरों की व्यवस्था तथा लाॅकडाउन का सुव्यस्थित रूप से परिपालन कराने के लिए नियुक्त मजिस्ट्रेट्स द्वारा अपने दायित्वों का पालन न करने तथा अनुपस्थित रहने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने जवाब तलब करने के निर्देश दिये हैं। जिलाधिकारी रमाकांत पांडे ने कोरोनटाइन सेन्टरों की व्यवस्था तथा लाॅकडाउन का सुव्यस्थित रूप से परिपालन कराने के लिए नियुक्त मजिस्ट्रेट्स द्वारा अपने दायित्वों का पालन न करने तथा अनुपस्थित रहने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए अपर जिलाधिकारी से उनका जवाब तलब करने तथा अपने सम्मुख प्रस्तुत हो कर पक्ष रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के दृष्टिगत लाॅकडाउन के दौरान जिस अधिकारी को जो दायित्व सौंपे गए हैं, उनका पूर्ण रूप से पालन करना सुनिश्चित करें अन्यथा संबंधित के विरूद्व कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने कोरोनटाईन केन्द्र पर नियुक्त सैक्टर मजिस्ट्रेट्स को निर्देश दिए कि किसी भी अवस्था में बैरिकेटिंग से आगे न बढ़ें और अपने साथ सेनिटाईजर सहित आवश्यक सामग्री रखते हुए कोरोनटाईन ऐरिया के चारों ओर संबंधित नगर पालिका/पंचायत तथा शूगर मिल प्रशासन के माध्यम से नियमित सफाई-चूना और सेनिटाईजेशन का कार्य कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी श्री पाण्डे आज स्थानीय विकास भवन के सभागार में विभिन्न समितियों के नोडल अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कार्याें की प्रगति की समीक्षा करते हुए उपस्थित अधिकारियों को दिशा-निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने कहा कि जिला बिजनौर में कोरोना वायरस के रोगी पाए जाने पर स्थिति गंभीर हो गई है और जिला प्रशासन का हर सम्भव प्रयास है कि किसी भी अवस्था में रोगियों की संख्या में वृद्वि न होने पाए और जो रोगी कोरोना वायरस ग्रस्त हैं, उन्हें शीघ्र स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हो। उन्होंने कहा कि इस चुनौती से निपटने के लिए आवश्यक है कि शासन द्वारा समय समय पर दिए गए दिशा-निर्देशों का अक्षरतः पालन सुनिश्चित किया जाए और जिस अधिकारी को जो दायित्व सौंपा गया है, उसके अनुसार वह अपनी जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी, निष्पक्षता और गंभीरता के साथ पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि जिले में लाॅकडाउन का कड़ाई के साथ पालन कराना सुनिश्चित करायें। उन्होंने अपर जिलाधिकारी प्रशासन को शहरी क्षेत्रों तथा जिला पंचायत राज अधिकारी को ग्रामीण क्षेत्रों में नियमित रूप से सफाई कार्य के साथ-साथ सेनिटाईजेशन कार्य कराते रहने के निर्देश दिए। सहायक श्रमायुक्त को निर्देश दिए कि विभाग में पंजीकृत सभी श्रमिकों को प्रति श्रमिक रू0 1000 का लाभ उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें और कोई भी श्रमिक इस योजना का लाभ पाने से वंचित न रहे। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी के0पी0 सिंह, अपर जिलाधिकारी वि/रा अवधेश कुमार मिश्र, प्रशासन विनोद कुमार गौड़, न्याययिक डा0 नितिन मदान, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य अनिल कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी विजय कुमार यादव, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट परमानन्द झा सहित संबंधित समितियों के नोडल अधिकारी एवं सैक्टर मजिस्ट्रेट मौजूद थे।

No comments