Latest News

जिले में कोरोना पहुंचने का केन्द्र बन सकता अमौली

फतेहपुर, शमशाद खान । अमौली कस्बे में लॉकडाउन का असर पूरी तरह से ध्वस्त होता नजर आ रहा है। सुबह से बाजारों में भीड़ उमड़ पड़ती है। दुकानों में भीड़ लगाने से सोशल डिसटेंसिंग की धज्जियां उड़ती रहती है। ज्ञात हो कि अमौली से मात्र आठ किलोमीटर की दूर कानपुर सीमा स्थित बरीपाल गांव में एक मस्जिद में 11 जमाती मिले है। जिसमें 4 जमाती
अमौली बाजार में उमड़ी भीड़ का दृश्य।
कोरोना पॉजिटिव निकले थे और जमाती के सम्पर्क में आये एक संदिग्ध की मृत्यु हो गयी है। जिसे कानपुर के रामा मेडिकल कॉलेज में कोरोना संदिग्ध के रूप में भर्ती कराया गया था। ऐसी परिस्थितियों में भी पड़ोसी जिले के गांवों से लोग अमौली आ रहे है और बाजारों से खरीददारी कर रहे है। अगर किसी वाहक से वायरस अमौली पहुँचता है तो पूरे जिले में बड़ा संकट खड़ा हो सकता है। बाजारों में आवश्यक जरूरत की दुकाने खोलने का आदेश 10 बजे से शाम 4 बजे तक करने के बाद बाजारों में ज्यादा हलचल दिखाई देती है। जो कि लोगों की खुद के स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही और प्रशासनिक आदेशो का मखौल उड़ता नजर आता है। अगर इस तरह के माहौल में सख्ती न बरती गयी तो बहुत ही भयानक परिणाम देखने को मिल सकते है।

No comments