Latest News

शेल्टर होम्स में लोगों की काउन्सलिंग शुरू

मानसिक तनाव से बचने के लिए मनोरोग चिकित्सकों ने दिए टिप्स 
लोगों को समझाया, परेशान न होइए जल्द कट जाएगा मुश्किल वक्त 
 
बांदा, के0 एस0 दुबे । लाकडाउन में जिले में बनाए गए  आश्रय स्थलों या शेल्टर होम्स में रह रहे प्रवासी मजदूरों को मानसिक तनाव बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने शासन के निर्देशों का पालन करना शुरू कर दिया है।  इन मजदूरों को मानसिक रूप से स्वस्थ रखने के लिए अब उनकी काउंसिलिंग की जा रही है। 
इसी क्रम में मंगलवार को राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम की टीम ने मवई बुजुर्ग स्थित प्राथमिक विद्यालय में बनाए गए शेल्टर होम में रह रहे प्रवासी लोगों की काउन्सलिंग की और उन्हें मानसिक तनाव से बचने के टिप्स दिए। मनोरोग चिकित्सक डॉ. हरदयाल व क्लीनिकल साइकोलाजिस्ट डा. रिजवाना हाश्मी ने लोगों कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षणों और इससे होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दी। उन्हें समझाया कि उनके और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए उनका क्वारंटाइन सेंटर में रहना बेहद जरूरी है। कोरोना वायरस के चलते जो
काउंसिलिंग के दौरान मौजूद चिकित्सक व अन्य लोग
स्थिति पैदा हुई है वह स्थायी रूप से रहने वाली नहीं है, कुछ ही दिनों में यह मुश्किल वक्त खत्म हो जाएगा और फिर से जिन्दगी चल पड़ेगी। इसलिए वे इससे परेशान न हों और अपनी सोच को सकारात्मक रखें। कोरोना को लेकर फैली अफवाहों पर ध्यान न दें। हमेशा सतर्क रहें, सामाजिक दूरी बनाए रखें और लॉक डाउन का कड़ाई से पालन करें। इस मुसीबत की घडी में अपने आप को अकेला न समझें क्योंकि इस वक्त उनके साथ पूरा देश खड़ा है। 
क्लिनिकल साइकोलाजिस्ट डा. रिजवाना हाशमी ने बताया कि शेल्टर होम्स में आमजन को किसी तरह के मानसिक तनाव का सामना न करना पड़े, इसके लिए मानसिक विभाग की टीम प्रतिदिन अलग-अलग सेंटरों पर जाकर लोगों की काउन्सलिंग कर रही है। सोमवार को भी मानसिक विभाग की टीम द्वारा कृषि विश्वविद्यालय में बनाए गए शेल्टर होम में रह रहे प्रवासियों की काउन्सलिंग की गई थी। काउन्सलिंग के दौरान सामाजिक दूरी के मानकों का पालन करते हुए छोटे-छोटे समूहों में लोगों की काउंसलिंग की जा रही है। उनसे खाने और साफ-सफाई की व्यवस्था के बारे में भी पुछा जा रहा है। सभी लोगों को मास्क लगाने के लिए कहा जा रहा है और घर जाकर भी अपने आप को कुछ समय तक क्वारंटाइन में रखने की सलाह दी जा रही है। भविष्य में कोई भी दिक्कत होने पर वे टेलीकाउन्सलिंग के जरिये भी उचित सलाह ले सकते हैं।   
 
बरतें सावधानी 

  • - बार-बार साबुन और पानी से 40 सेकण्ड तक हाथ धोएं।
  • - हर समय दूसरे व्यक्ति से दो मीटर की दूरी बनाकर रखें।
  • - बार-बार अपना चेहरा, नाक या आँख न छुएं।
  • - खांसते-छींकते साफ रुमाल या टिश्यू पेपर का प्रयोग करें और इस्तेमाल किए टिश्यू को कूड़ेदान मे ही फेंकें।
  • - बाहर जाते हुए मास्क जरूर लगाएं।
  • - रुमाल का इस्तेमाल करने पर उसे अच्छे से धुलकर ही पुनः प्रयोग करें।

जनपद स्तरीय कंट्रोल रूम नंबर 

कंट्रोल रूम (मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय) - 05192-224872, 9936706921
कंट्रोल रूम (जिलाधिकारी कार्यालय) दृ 05192-224460

No comments