Latest News

लॉकडाउन:- गहन चेकिंग के बाद ही शहर में आ पाएंगे भारी वाहन

लॉकडाउन और कोरोना वायरस की आड़ में तस्करों की चांदी हो गई है। दक्षिण भारत स्थित पोर्ट पर तस्करी की गतिविधियां बढ़ी हैं, जिसका असर कानपुर तक हुआ है। इसे लेकर आईजी रेंज ने हाईवे के थानों को हाई अलर्ट कर दिया है। महत्वपूर्ण वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले वाहनों की भी अब से चेकिंग शुरू होगी। मगर इस चेकिंग के दौरान पुलिस उन्हें परेशान नहीं करेगी।
आमजा भारत कार्यालय संवाददाता:- दक्षिण भारत के आंध्र प्रदेश में सबसे बड़ा शहर वाईजैग में सबसे बड़ा पोर्ट है। पानी के रास्ते दूसरे देशों से यहां सबसे ज्यादा माल आता है। कोरोना वायरस के चलते वाईजैग स्थित पोर्ट पर भी पूरी तरह से लॉकडाउन हो रखा है। पानी की सीमाओं में जल पुलिस भी ड्यूटी से मुक्त हो रखी है। जिसके बाद से दूसरे देशों से तस्करी कर भारत माल लाने का खेल शुरू हो चुका है।


सोना और गांजा की सबसे ज्यादा तस्करी
वाईजैग से देश में सोने और गांजा की सबसे ज्यादा तस्करी होती है। ऑरगेनिक गांजा सबसे प्योर फार्म माना जाता है। इसकी तस्करी पाकिस्तान, अफगानिस्तान से ज्यादा होती है। वहीं सोने की तस्करी श्रीलंका से ज्यादा होती है।

हाईवे पर बढ़ेगी निगरानी
तस्करी कर माल को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले वाहनों में छुपाकर देश भर में फैलाने के इनपुट्स पुलिस को दिए गए हैं। इन इनपुट्स के मिलने के बाद आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने हाईवे पर आने वाले रेंज भर के सभी थानों को हाई अलर्ट रहने के आदेश दिए हैं। हाईवे पर आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले वाहनों की भी चेकिंग होगी।

क्या बोले अधिकारी
तस्करी के इनपुट्स मिले हैं। उसके आधार पर हाईवे पर पड़ने वाले थानों को हाई अलर्ट किया गया है। साथ ही पुलिस को यह निर्देश भी दिए गए हैं कि वह महत्वपूर्ण वस्तुओं की आपूर्ति करने वाले वाहनों की जल्द चकेरिंग कर उन्हें आगे बढ़ने का मौका देगी। मगर किसी कीमत पर उन्हें परेशान नहीं किया जाएगा।
-मोहित अग्रवाल, आईजी रेंज

No comments