Latest News

रोटी घर की फूड वैन सैकड़ों जरूरतमंदों का बनी आसरा

कोरोना योद्धाओं की भूमिका अदा कर रहा नारी स्मिता फाउंडेशन
  
फतेहपुर, शमशाद खान । जैसा नाम वैसा काम रोटी घर अर्थात गरीबों का चूल्हा रोशन का दूसरा नाम। कोरोना जैसी आपदा में पूरे जनपद में राशन एवं भोजन पहुंचने के लिए नारी स्मिता फाउंडेशन द्वारा संचालित रोटी घर की मोबाइल फूड वैन पहचान बना चुकी है। लॉकडाउन के आज 27 वें दिन लगातार फूड वैन कोरोना योद्धाओं के अलावा गलियों के अन्दर पहुंच कर भोजन मुहैया करा रही है। 
जरूरतमंदों के बीच राशन का वितरण करती रोटी घर की वैन।
संचालिका स्मिता ने बताया कि जरूरतमंदों कि मदद करना हम सबका नैतिक कर्तव्य है। जिसका पालन हम सबको करना चाहिए उन्होंने जनपदवासियों से अपील करते हुए कहा कि स्वयं से आस पास के परिवारों की मदद करें, अन्यथा की दशा में रोटी घर परिवार को सूचित करें। जनपद में कोई भी भूख से नहीं मरेगा। यह बीड़ा हम सबने उठाया है। फूड वैन ने राध नगर, 50 नबर पुल, हरिहरगंज, कलक्टरगंज, वर्मा चैराहा, शांतीनगर, ज्वालागंज, बाकरगंज, सदर अस्पताल, आबूनगर, वीआईपी रोड, जीटी रोड, जेल चैकी, बुलेट चैराहा, अवंतीबाई बस्ती समेत अन्य स्थानों में पहुंच कर खाद्यान्न वितरित किया। इस अवसर पर विवेक मिश्र, श्रेय शुक्ल, धनंजय पांडेय, वरुण तिवारी, नीरज यादव, भरत श्रीवास्तव, यश प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे।

No comments