Latest News

कानपुर: रामनवमी पर घरों में नहीं हुआ कन्या पूजन

कानपुर में कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के कारण गुरुवार को राम नवमी के मौके पर घरों में कन्या पूजन नहीं हुआ। मंदिरों के पट बंद होने के चलते लोगों ने घर पर ही देवी मां का विधि-विधान से पूजन किया।
आमजा भारत सवांददाता गौरव शुक्ला:- व्रती महिलाओं ने व्रत खोला। घरों में कन्या भोज के बजाय लोगों ने घर-घर जाकर कन्याओं को भेंट दी। लोगों ने अपने घरों में पूजा कर जरूरतमंदों की मदद करने वाली संस्थाओं को राशन दान किया।
लॉकडाउन के चलते लोगों ने इस नवरात्रि पर बड़े आयोजन नहीं किए। कई लोगों ने दान-धर्म के इस पुण्य अवसर पर जरूरतमंद लोगों को भी श्रद्धाभाव से खाना खिलाया। चकेरी के सनिगवां में बस्ती में जाकर लोगों ने कन्याओं को भोजन कराया और भेंट दी। 

कन्या भोज के बजाय पूरे परिवार के लिए दिया राशन
कोरोना संकट के दौर में शहर के उद्योगपति जरूरतमंद लोगों और अपने कर्मचारियों की मदद को आगे आ रहे हैं, लेकिन कारोबारी रौनक टंडन ने मदद का नया तरीका अपनाया। उन्होंने
गुरुवार को नवरात्र पर कन्या भोज के बजाय अपने कर्मचारियों को एक महीने का राशन उपलब्ध कराया। रौनक टंडन की फर्म फ्यूचर ट्रक्स में करीब 200 कर्मचारी काम करते हैं।
रौनक टंडन ने इन कर्मचारियों को एक महीने में 3000 रुपये तक का राशन देने की बात कही है। इसकी शुरुआत उन्होंने रामनवमी से की है। उन्होंने कहा कि भोज के बजाय हर घर में राशन पहुंचा कर कन्याओं तक सामग्री पहुंचाने का प्रयास किया है। 

No comments