Latest News

तालाब भराये, पेयजल पूरी क्षमता से मुहैया कराए ।

हमीरपुर, महेश अवस्थी  । जनपद में लॉक डाउन का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने तथा गर्मी में पेयजल की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कराने के लिए जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी ने कलेक्ट्रेट सभागार कक्ष में कहा कि सभी नगरीय निकायों  में जल संस्थान व नगर पालिका द्वारा आपसी सामंजस्य स्थापित कर पेयजल की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करे ।इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। उन्होंने कहा कि नगरीय अथवा ग्रामीण क्षेत्रों में ऐसे हैंडपंपों को जो रिबोर योग्य हैं अथवा उसमे कोई तकनीकी समस्या है,उसे शीघ्र क्रियाशील किया जाए ताकि पेयजल की किसी भी प्रकार की समस्या ना हो । उन्होंने कहा कि जनपद की सभी पाइप पेयजल योजनाओं को भी पूर्ण क्षमता से चलाया जाए । पेयजल कंट्रोल रूम में जिन कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। वह अनिवार्य रूप से अपने समय में उपस्थित रहे । जिलाधिकारी ने कहा कि पेयजल के संबंध में क्रास चेकिंग की जाए।  पेयजल में किसी भी प्रकार की समस्या होने पर तथा धरना प्रदर्शन होने पर संबंधित अधिशासी अधिकारी , बीडीओ, जल संस्थान, जल निगम की जिम्मेदारी तय की जाएगी ।सभी बीडीओ व एसडीएम द्वारा अपने क्षेत्र के शत-प्रतिशत तालाबों को भरवाया जाए । कहा कि आरोग्य सेवा एप को इंस्टॉल कराने हेतु प्रभावी प्रचार प्रसार किया जाए इसका सभी अधिकारी कर्मचारियों द्वारा अनिवार्य रूप से इंस्टॉल कर प्रयोग करे । लॉकडाउन के दृष्टिगत बैंकों में कहीं पर भी भीड़ ना हो तथा जरूरतमंद लोगों तक पैसों की उपलब्धता / आपूर्ति आसानी से सुनिश्चित हो इसके लिए संबंधित क्षेत्र के डाकिया से संपर्क किया जाय। डाकिए द्वारा माइक्रो एटीएम के माध्यम से घर पर ही 100 से 10000 रुपये तक की धनराशि को उपलब्ध कराया जाएगा। 
       
जिलाधिकारी ने 20 अप्रैल से मिलने वाली छूट के संबंध में  बताया कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट, आवागमन पर पहले की तरह पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा तथा जिले के बॉर्डर पूरी तरह से सील रहेंगे । सार्वजनिक समारोह पर प्रतिबंध रहेगा। प्राइवेट नर्सिंग होम की इमरजेंसी सेवाओं को चालू करने हेतु मुख्य चिकित्सा अधिकारी से अनुमति लेनी होगी । मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा कोरोना / कोविड-19 के दृष्टिगत अस्पताल की जरूरी जांच कर अनुमति दी जाएगी ,इसके लिए संबंधित नर्सिंग होम में पीपीई किट ,एन-95 मास्क तथा स्वास्थ्य कर्मियों को  कोरोना से बचाव के दृष्टिगत अन्य  आवश्यक उपकरण अनिवार्य रूप से उपलब्ध रहने चाहिए । पैथोलॉजी पर भी यही नियम लागू होंगे । कृषि तथा संबंधित गतिविधियों को छूट रहेगी इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन अनिवार्य रहेगा इसके अतिरिक्त मत्स्य, पशुपालन ,बैंक ,मनरेगा से संबंधित कार्य को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ छूट अनुमन्य होगी। आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी हेतु ई-कॉमर्स को छूट प्राप्त होगी किंतु इसमें प्रयोग किए जाने वाले वाहन /बाइक आदि की परमिशन लेनी होगी । सरकारी जन सेवा केंद्र को कतिपय शर्तों व  सोशल डिस्टेंस के अनुपालन के साथ अनुमति प्राप्त होगी। जनपद के सभी सरकारी कार्यालय खुलेंगे इसमें सभी अधिकारियों की उपस्थिति अनिवार्य होगी तथा तृतीय व चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की केवल 33% कर्मचारी ही उपस्थित रहेंगे । मोटरसाइकिल पर केवल 01 (केवल चालक) तथा चार पहिया वाहनों पर ड्राइवर सहित केवल दो लोगों को जरूरी सेवाओं /चिकित्सा आदि के लिए अनुमति रहेगी।  खनन गतिविधियों को न्यूनतम मजदूरों के साथ कोविड-19 के दृष्टिगत मजदूरों में  सुरक्षा उपकरण की उपलब्धता के साथ ही अनुमति रहेगी । खनन में एनजीटी के दिशा निर्देशों का पालन अनिवार्य रहेगा। 
     जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी प्रकार की आवश्यक वस्तुओं, खाद्य सामग्री की घटतौली अथवा कालाबाजारी,  ओवर रेटिंग पर तत्काल एफ आई आर दर्ज करते हुए कड़ी कार्रवाई की जाए। सभी दुकानों पर राशन ,फल, सब्जी की रेट सूची चस्पा की जाय । जनपद में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे, इसके लिए जरूरतमंद लोगों को चिन्हाकन कर कम्युनिटी किचेन के  माध्यम से भोजन उपलब्ध कराया जाए। रेहड़ी, खोमचे वाले, रिक्शा चालक तथा ऐसे अन्य लोगों का चिन्हांकन कर उन्हें नियमानुसार सहायता राशि तथा भोजन  उपलब्ध कराया जाए।  जनपद में कहीं भी पराली जलाने की एक भी घटना घटित नहीं होनी चाहिए । ऐसी किसी सूचना पर तत्काल कड़ी कार्यवाही करते हुए भारी जुर्माना लगाया जाएगा।
    पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने कहा कि जनपद में लॉक डाउन के दृष्टिगत लोग अनावश्यक इधर उधर न घूमे । फ़ल ,दूध, सब्जी की मंडी पर सोशल डिस्टेंस का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए । गांव में सूचना तंत्र को सक्रिय किया जाए। बाहर से कोई भी व्यक्ति न आने पाए ऐसी किसी भी सूचना पर आने वाले लोगों को चौकीदार, लेखपाल ,समाजसेवी के माध्यम से चिन्हित कर शेल्टर होम में कोरेण्टाइन किया जाय। सब्जी, फल मंडी को तथा हॉस्पिटल को सेनेटाइज कराया जाए।

No comments