Latest News

कई जनपदों के प्रवासी मजदूरों को साझा रसोई ने बांटा राशन

तीन मई तक लगातार राशन बांटेगी साझा रसोई 
 
फतेहपुर, शमशाद खान । कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए किये गये लाकडाउन में गैर जनपदों मंे रहकर कमाई कर रहे प्रवासी मजदूर अब भी घर जाने के लिए इधर-उधर फंसे हुए हैं। यहां कई जनपदों के फंसे प्रवासी मजदूरों के बीच लाकडाउन के 32 वें दिन भी जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से चल रही साझा रसोई के माध्यम से सूखा राशन देने का काम किया गया। बताया गया कि तीन मई तक लगातार प्रवासी मजदूरों के बीच सूखा राशन वितरित करने का काम किया जायेगा। 
प्रवासी मजदूरों को राशन वितरित करते कांग्रेसी।
बताते चलें कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा पूरे देश में लाकडाउन कर दिया गया है। लाकडाउन के 32 दिन बीत चुके हैं। ऐसे में कई जनपदों के प्रवासी मजदूर यहां फंसे हुए हैं। जिनमें देवरिया, कुशीनगर, खरगांव व मैनपुरी के प्रवासी मजदूर शामिल हैं। ऐसे प्रवासी मजदूरों को तीन मई तक सूखा राशन देने का कार्य साझा रसोई करेगी। मालूम हो कि मलवां, चैडगरा आदि कारखानों के बंद हो जाने के बाद इन मजदूरों के सामने खाने के लाले पड़ गये हैं। जिला कांग्रेस कमेटी की हेल्पलाइन पर जिलाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय को जानकारी होते ही इन प्रवासी मजदूरों को 22 राशन किट उपलब्ध करायी गयी। ज्ञात हो कि विगत दिवस भी पूर्वांचल के दो दर्जन प्रवासी श्रमिकों को राशन किट उपलब्ध करायी जा चुकी है। साझा सहयोग से संचालित साझा रसोई से राशन लेकर भिटौरा बाईपास के समीप प्रवास कर रहे इन मजदूरों को मदद पहुंचाने वालों में पूर्व प्रदेश महासचिव रियासत अली, सुधाकर अवस्थी, शिवाकांत तिवारी, पंकज गौतम, उदित अवस्थी, शिखर शुक्ला आदि रहे। 

No comments