Latest News

नोडल अधिकारियों ने स्थिति परख दिए निर्देश

बिजनौर, (संजय सक्सेना) - कोरोना वायरस संक्रमण नियंत्रण आदि से संबंधित नोडल अधिकारी जिला बिजनौर/हाउसिंग कमिश्नर अजय चौहान ने जिला प्रशासन द्वारा नोविल कोरोना वायरस से संबंधित व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त किया है। उन्होंने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देश दिए कि अपनी सुरक्षा के प्रति पूरी तरह सजगता और तत्परता बरतें और सभी आवश्यक सुरक्षात्मक उपायों का प्रयोग करते हुए अपने दाायित्वों का निर्वहन करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिन स्थानों को कोरेन्टीन  सेन्टर बनाया गया है तथा जो क्षेत्र हाॅट स्पाॅट घोषित किए गए हैं, उनमें नियमित रूप से सफाई एवं सेनेटाईजेशन का कार्य किया जाए तथा इसी के साथ पम्पलेट के माध्यम से कोरोना वायरस के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारी उपलब्ध कराते हुए उससे बचने और सुरक्षित रहने के प्रति भी जरूरी मालूमात उपलब्ध कराएं ताकि आमजन जागरूक होकर अपने एवं अपने परिवार का उचित बचाव कर सकें।
नोडल अधिकारी श्री चौहान विकास भवन के सभागार में कोविड-19 वायरस से संबंधित गठित विभिन्न समितियों के नोडल अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहेे थे।
उन्होंने कहा कि शासन द्वारा उन्हें जिला बिजनौर के नोडल अधिकारी के रूप नियुक्त किया गया है, ताकि जिला प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस नियंत्रण से संबंधित व्यवस्थाओं का जायजा लिया जाए और उक्त सम्बन्ध में आवश्यक दिशा-निर्देश उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने  कहा कि कोरोना वायरस नियंत्रण आदि में अपना योगदान उपलब्ध करा रहे अधिकारी एवं कर्मचारी बहुत महान और प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं, जिनके लिए आवश्यक है कि अपनी सुरक्षा के प्रति पूरी तरह सजग रहें और सभी आवश्यक उपकरणों, उपायों और निर्देशों का अक्षरतः पालन करना सुनिश्चित करें। उन्होंने  स्पष्ट करते हुए कहा कि मेडिकल स्टाफ के साथ किसी भी प्रकार का दुर्व्यवहार कतई बर्दाश्त  नहीं किया जाएगा। उन्होंने कम्यूनिटी किचेन व्यवस्था को और अधिक मजबूत और पारदर्शी बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहने पाए।
इस अवसर पर एडीजी राम कुमार ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिले से बाहर के लोग जो कोरेन्टीन किए गए हैं, उनके नाम, मोबाइल नम्बर तथा पते सहित आवश्यक सभी सूचनाओं के अभिलेख तैयार कर सुरक्षित रखें और उनके खान-पान का उचित रूप से प्रबंध किया जाए। यह भी निर्देश दिए कि भविष्य में अन्य प्रदेशों से और भी श्रमिक जिले में प्रवेश कर सकते हैं, उनके सम्बन्ध में भी आवश्यक तैयारियों के साथ सभी सुचनाओं के अभिलेख तैयार करने की कार्यवाही करें। बैठक के दौरान संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य डा0 अनिल कुमार मिश्र ने नोडल अधिकारी को संज्ञानित किया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में दवाएं एवं आवश्यक उपकरण व सामग्री उपलब्ध हैं। प्रतिदिन जिलाधिकारी के साथ हाॅटस्पाॅट, कोरोनटाइन सेन्टर्स सहित अन्य स्थानों का निरीक्षण किया जा रहा है और आवश्यकता के अनुसार दिशा-निर्देश उपलब्ध कराए जा रहे हैं।
बैठक का संचालन करते हुए जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डे ने दोनों अधिकारियों का  स्वागत करते हुए जिले में कोरोना वायरस के         प्रारम्भ से वर्तमान तक की स्थिति को बिन्दुवार अवगत कराया। उन्होंने बताया कि जिले में कोरोना वायरस का पहला पाॅजेटिव केस 07 अप्रैल 20 को सामने आया, जिले में अब तक 27 कोरोना पाॅजेटिव केस मौजूद हैं तथा 20, अप्रैल के बाद अभी तक कोई नया कोरोना पाॅजेटिव केस नहीं पाया गया है। उन्होंने नोडल अधिकारी को आश्वस्त  करते हुए कहा कि उनके द्वारा निर्गत मार्ग निर्देशन का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए और अधिक सतर्कता  सुनिश्चित की जाएगी।
इस अवसर पर पुलिस अधिक्षक संजीव त्यागी, मुख्य विकास अधिकारी के0पी0 सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विनोद कुमार गौड़, वि/रा अवधेश कुमार मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक नगर एवं ग्रामीण, मुख्य चिकित्साधिकारी विजय कुमार यादव के अलावा सभी समितियों के नोडल अधिकारी मौजूद थे। 

No comments