Latest News

क्वारंटाइन सेंटर से भागे युवक को पकड़े गए लेखपाल पर हमला

परिजनों ने कुल्हाड़ी और डंडा लेकर दौड़ाया, भागकर लेखपाल ने बचाई जान 

नरैनी, कृपाशंकर दुबे । दिल्ली से लौटकर घर आए परदेशी बाबू को गांव के ही स्कूल में क्वारंटाइन कर दिया गया था। लेकिन वह वहां से भाग निकला और गांव में घूमता देखा गया। ग्रामीणों ने लेखपाल को सूचना दी। लेखपाल पकड़ने के लिए घर पहुंचा तो युवक के परिजनों ने कुल्हाड़ी और लाठी लेकर दौड़ा लिया। लेखपाल ने भागकर जान बचाई। पुलिस ने पिता और पुत्र दोनो को गिरफ्तार कर लिया है। 
तहसील के लेखपाल रामकिशोर वर्मा ग्रामीणों की सूचना पर तरखरी गाँव गये थे। वहां पंकज पुत्र राजाबाबू 27 मार्च को दिल्ली से लौटकर आया था जिसे संदिग्ध देखकर 28 मार्च को गांव के स्कूल में क्वारंटाइन पर रखा गया था, लेकिन दूसरे ही दिन यह क्वारंटाइन सेंटर से पंकज अपने घर भाग आया था। गांव में टहलते देख ग्रामीणों ने ड्यूटी पर लगे लेखपाल को सूचना दी। लेखपाल ने बताया कि उक्त युवक के दरवाजे पर जैसे ही पहुंचे तो उसके पिता ने पहले गाली-गलौज की और हथापाई करने लगा। बाद में धारदार कुल्हाड़ी लेकर मारने दौड़ा। किसी तरह भागकर जान बचाई और एसडीएम वंदिता श्रीवास्तव तथा गिरवां थाना सूचना दी। बाद में फोर्स के साथ गिरवां थानाध्यक्ष शशिकुमार पाण्डेय पहुंचे तथा आरोपी पिता और पुत्र दोनो को गिरफ्तार कर लिया है। 

No comments