Latest News

रमजान पर्व पर घरों पर पढ़े तरावीह व नमाज: शहरकाजी

फतेहपुर, शमशाद खान । कोरोना वाइरस संक्रमण की वजह से मुल्क में लाकङाउन चल रहा है। ऐसे हालातों में शहरकाजी मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी ने जिले के सभी मुसलमानों को आगाह किया कि आने वाले माहे रमजानुल मुबारक के मौके पर मस्जिदों में हुकुमत और जिला इंतजामिया की जानिब से जितने लोगो को नमाज पढ़ने की इजाजत है। उतने लोग ही मस्जिदों मे पाँच वक्त की नमाज जुमा और नमाजे तरावीह बजमात का एहतेमाम करें। बाकी सभी हजरात अपने-अपने घरो में बजमात या फरदन-फरदन तौर पर पाँचो वक्त की नमाज व तरावीह का इंतेजाम करें। उन्होने कहा कि यदि कोई व्यक्ति अपने परिवार के सदस्यों के साथ तरावीह पढ़ना चाहता है तो वह घर पर इंतेजाम करे। चूंकि तरावीह में जमाअत सुन्नते केफाया
शहरकाजी मौलाना कारी फरीद उद्दीन कादरी।
है। इसलिए अगर मस्जिद में चन्द लोग जमात कर लेते हैं तो काफी है। मस्जिद में भीड़ करके अपने आपको परेशानी में न डालें। दिन में रोजा रखे और अल्लाह तआला को राजी करें। रमजानुल मुबारक का बहुत ही मोकद्दस (पाक) महीना आ रहा है। जो लोग मालदार हैं वह अपने माल की जकात व सदका निकालकर रमजानुल मुबारक के शुरू में ही गरीबों फकीरों और मिस्कीनों तक पहुंचा दें। ऐसे नाजुक हालत में आप सभी हजरात मदद करते हैं तो ये और ज्यादा सवाब है। जकात व सदका के अलावा सदकाए नाफेला और कुछ खौरात की रकम अपनी जानिब से ज्यादा करके निकाल दे। ताकि जरूरतमन्दो की जरूरत और गरीब का पेट भर सके।

No comments