Latest News

विवाहिता ने अपनी दुधमुंही बच्ची को पहले बेड पर लिटाया, फिर उसी के सामने लगा ली फांसी

बिधनू थाना क्षेत्र के कठुई गांव में शुक्रवार सुबह एक विवाहिता अपनी दुधमुंही बच्ची के सामने फांसी के फंदे पर झूल गई। राशन की दुकान से चावल लाने के लिए खेत से घर लौटा देवर बच्ची के रोने की आवाज सुनकर कमरे में पहुंचा तो घटना की जानकारी हुई। हालांकि महिला ने फांसी क्यों लगाई, इसकी जानकारी स्वजन नहीं दे सके। उधर, मायके पक्ष ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाकर हंगामा किया।
दो साल पहले ही हुआ था विवाह
आमजा भारत सवांददाता:- कठुई गांव निवासी किसान रामकुमार के बेटे विजय का विवाह फरवरी 2018 में पड़ोसी गांव हाजीपुर निवासी गंगाराम की 21 वर्षीय बेटी आरती से हुआ था। दोनों के 14 माह की बेटी है। पति विजय ने बताया कि शुक्रवार सुबह आरती रसोई में खाना बना रही थी। इस बीच वह मां मिथलेश, पिता रामकुमार व भाई पवन संग गेंहू की फसल काटने के लिए खेत निकल गए। इधर आरती ने बच्ची को बेड पर लिटाकर उसके सामने धन्नी के सहारे साड़ी के फंदे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। राशन की दुकान से चावल लाने के लिए देवर पवन घर लौटा तो बच्ची के रोने की सुन वह कमरे में पहुंचा, जहां आरती का शव फंदे से लटका था। उसने फोन करके खेत में काम कर रहे स्वजनों को जानकारी दी। साथ ही फंदा काटकर शव नीचे उतारा और पुलिस व मायके पक्ष को जानकारी दी।

मायके पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप
मौके पर पहुंचे मायके पक्ष के लोगों ने ससुराली जनों पर हत्या का आरोप लगाते हुए हंगमा शुरू कर दिया। भाई सुरजीत ने आरोप लगाया कि ससुरालीजन बहन को आए दिन मारते पीटते थे। आरोप है कि हत्या कर शव फंदे पर लटका दिया गया है। उसने पुलिस से फॉरेंसिक टीम बुलाकर जांच की मांग की। थाना प्रभारी पुष्पराज सिंह ने बताया कि फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।  

No comments