Latest News

फर्जी चिकित्सा अधिकारी बन कार से घूम रहा झोलाछाप

सीओ ने कहा: कोतवाल को दिए गए जांच और कार्रवाई के निर्देश 
तहसील के आला अधिकारी की जुबान बहुत ही निष्ठुर 

बबेरू, कृपाशंकर दुबे । कस्बे के एक नर्सिंग होम के संचालक (झोलाछाप) ने अपनी कार में एक चिट चिपका रखी है जिसमें लिखा है चिकित्सा अधिकारी। चैकिएं मत। यह हकीकत में चिकित्साधिकारी नहीं है असल में यह मुन्नाभाई हैं। सही शब्दों में झोलाछाप। लेकिन कार में चिट चिपकाकर फर्जी चिकित्सा अधिकारी बने इस झोलाछाप की गाड़ी अपना रुतबा दिखा रही है। आलम यह है कि फर्जी चिट चिपकी होने के कारण उनकी कार को कोई रोकता नहीं है। लाक डाउन का पालन कराने के लिए लगे पुलिस कर्मी भी स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी समझकर गाड़ी को नहीं रोकते हैं। दरअसल इस झोलाछाप का कस्बे में ही एक क्लीनिक भी हैं। वहां बैठकर फर्जी चिकित्साधिकारी मरीजों के जीवन से खेलने का काम करते हैं। फर्जी
गाडी में चिपकी चिकित्सा अधिकारी की चिट
चिकित्सा अधिकारी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है। इस संबंध में पुलिस क्षेत्राधिकारी राजीव प्रताप से बात की गई तो उन्होंने कहा कि कोतवाल को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। इसके पूर्व तहसील के एक आला अधिकारी से मोबाइल के जरिए जब इस संबंध में बात की गई तो संबंधित आला अधिकारी ने ऐसा बेतुकी बात की थी कि उसको बयां कर पाना मुमकिन नहीं है। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दौर में कोरोना योद्धा से आला अधिकारी ने बहुत ही निष्ठुर तरीके से बात करते हुए कहा था कि तुम्हारे पर ज्यादा निकल आए हैं, अब देखना है कि आला अधिकारी इस फर्जी चिकित्सा अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने में सहायक साबित होते हैं या फिर उसके मददगार बनेंगे। 

No comments