Latest News

तृतीय विश्व युद्ध, कोरोना वायरस ......................

देवेश प्रताप सिंह राठौर
 (वरिष्ठ पत्रकार)

आज कोरोनावायरस से पूरा विश्व जो पूर्व में दो बार विश्व युद्ध हुआ है द्वितीय विश्व युद्ध में 70 देश लड़े थे। परंतु आज 200 से अधिक देश कोरोना वायरस लड़ रहे हैं हजारों की विश्व में मृत्यु हो चुकी है।कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है। इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। डब्लूएचओ के मुताबिक बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है।
 इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था। इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है।कोरोना से मिलते-जुलते वायरस खांसी और छींक से गिरने वाली बूंदों के ज़रिए फैलते हैं। कोरोना वायरस अब चीन में उतनी तीव्र गति से नहीं फ़ैल रहा है जितना दुनिया के अन्य देशों में फैल रहा
है। कोविड 19 नाम का यह वायरस अब तक 200 से ज़्यादा देशों में फैल चुका है। कोरोना के संक्रमण के बढ़ते ख़तरे को देखते हुए सावधानी बरतने की ज़रूरत है ताकि इसे फैलने से रोका जा सके। आज कोरोनावायरस से पूरा विश्व परेशानियों से जूझ रहा है मैं सुनता था द्वितीय विश्व युद्ध के बारे में जब द्वितीय विश्व युद्ध हुआ था भारत कीआजादी के पहले उस समय मात्र 70 देश विश्व युद्ध में लड़ाइयां लड़ रहे थे लेकिन आज कोरोनावायरस के कारण 200 से अधिक देश कोरोनावायरस से ग्रस्त है। यूरोप के मुख्य देश जो बहुत शक्तिशाली है मेडिकल से लेकर हथियारों  सेसुसज्जित हैं वह देश अमेरिका ब्रिटेन डांस जर्मनी स्पेन इजराइल इटलीयह सब कोरोनावायरस से बहुत अधिक ग्रस्त चल रहे हैं । और यह कोरोनावायरस जो विश्व का सबसे झूठा गद्दार देशों में गिनती होती है वह देश है चीन चीन एक ऐसा देश है जो अपने पावर और शक्ति के कारण किसी से डरता नहीं है। लेकिन चीन से विश्व में सबसे अधिक सामानों का आयात निर्यात भारत और अमेरिका चीन से ज्यादा सामान खरीदता है। सबसे पहले चीन से जो सामान आयात होता है उस पर पूर्ण रूप से रोक लगाई जाए चीनी सामानों को खरीदा ना जाए क्योंकि चीन को जब तक आर्थिक चोट नहीं पहुंचाई जाएगी तब तक यह इस तरह गंदी हरकतें विश्व महामारी की तरफ विश्व को झोकता रहेगा। आज कोरोना वायरस के कारण भारत में पार्ट टू चल रहा है क्या कभी ने सोचा था की पूरा भारत लॉक डाउन में होगा आप समझ सकते हैं कि यह कोरोनावायरस बहुत ही गंभीर विषय है जिस कारण पूरा विश्व विश्व युद्ध से ज्यादा आज मृत्यु दर के साथ करुणा वायरस से ग्रसित चल रहा है। आज हमें आप सबको देशवासियों को समझना चाहिए तथा जो इस देश के तबलीगी जमात ई ने जो कुरौना वायरस की गति को बढ़ाया है जिसके लिए तबलीगी जमात ई का मुखिया जिम्मेदार है जो इस समय फरार चल रहा है। क्योंकि तबलीगी जमाती ने स्थित पूरे देश में जो लाकर खड़ी इस तरह कर दी है की सरकार ने कोरोना वायरस के नियंत्रण के लिए पूरी जोर कोई कसर सरकार ने समय से हर कार्य किया परंतु इन तबलीगी जमात ई ने बहुत से आंकड़े बढ़ाकर देश को कठिन घड़ी में लाकर खड़ा कर दिया परंतु इस कठिन घड़ी में हमारे देश का मुखिया माननीय नरेंद्र मोदी जी अवश्य संकट से निकाल सकेंगे क्योंकि आज देश की बागडोर मजबूत हाथों में है इसलिए देश पूरा अपने को ठीक और मजबूत समझे क्योंकि आज विश्व में भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की हर जगह उनकी कार्यशैली पर उनके कार्यों पर पूरा विश्व तारीफ करता है आज देश कोरोना के मरीज बहुत कम है परंतु तबलीगी जमात ई के कारण संख्या बढ़ गई है जो सरकार सभी की तलाश में जुटी है और कोरोना वायरस पर पूर्ण नियंत्रण कर लेगी। तथा देश फिर वही अच्छी स्थिति में आ सकेगा हर व्यक्ति पुराने कार्यशैली में देश में कुशलता के साथ सब संकटों से दूर हो सकेगा। यूरोप के  जो देश कोरोना वायरस से संक्रमित है फोन में 3 देश ऐसे हैं जो वीटो पावर रखते हैं जैसे अमेरिका ब्रिटेन और फ्रांस यह तीन देश वीटो पावर के हैं इसके बाद जहां कोरोना वायरस फैला है वह देश यूरोप के इटली जापान इजराइल आज मजबूत देश शक्तिशाली देश है अगर यह सब एकमत से चाइना के विरोध में खड़े हो जाएंगे और अमेरिका के प्रधानमंत्री कहते हैं यह चाइनीज वायरस है परंतु चीन  स्वीकार नहीं कर रहा है आज पूरा विश्व जानता है चीन कितना गद्दार झूठ बोलने वाला देश है तथा इसे यूरोप देश कोरोना वायरस से निजात पाने के बाद चीन के खिलाफ कोई कदम जरूर उठाएंगे क्योंकि चाइना हमेशा विश्व विरोधी गतिविधियों में हमेशा अलग रहता है। चीन का सारा सामान जब विदेशों में आयात नहीं होगा तो आर्थिक रूप से कमजोर हो जाएगा और शक्तिहीन आज पूरा देश पूरा विश्व कोरोना वायरस से लड़ाई कर रहा है और इससे बचने का हर संभव प्रयास हर देश कर रहा है। परंतु चीन एक ऐसा देश है जो गलती तो करता है और गलती अपनी कवि अहंकार में ताकत पर बलबूते पर मानने को तैयार नहीं होता है । विश्व समुदाय चीन को हर क्षेत्र से अलग कर दें संबंध विच्छेद कर दे और उसके यहां से कोई भी सामान लेना बंद कर दे अपने आप वह जमीन पर आ जाएगा चीन पर विश्वास करना स्वयं को धोखा देने के बराबर है पूरा विश्व आज शंकर से गुजर रहा है कभी नहीं सोचा होगा की कोरोनावायरस आज विश्व की आर्थिक स्थिति को पूरा तितर-बितर कर दिया है। देश की प्रथम प्राथमिकता है कि हमारा देश भारत इस तरह कोरोना वायरस को देश से भगा कर ही शांत बैठेंगे।

No comments