Latest News

डीएम व एसपी ने राशन की दुकानों व आर्यावर्त बैंक का किया निरीक्षण

हमीरपुर, महेश अवस्थी । आज जिलाधिकारी डा. ज्ञानेश्वर त्रिपाठी व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने विकासखंड सुमेरपुर के ग्राम पचखुरा खुर्द में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत उचित दर की दुकानों के माध्यम से वितरित किए जा रहे खाद्यान्न राशन की व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने राशन वितरण के समय लोगो से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने तथा भीड़ न लगाने की अपील की। उन्होंने प्रत्येक राशन लेने वाले व्यक्ति के हाथ को धुलने हेतु सभी कोटे की दुकानों पर साबुन तथा सेनेटाइजर की व्यवस्था अनिवार्य रूप से करने के निर्देश दिए। उन्होंने लोगो से अनावश्यक घर से बाहर न निकलने की अपील की।
       तत्पश्चात जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने इलाहाबाद बैंक की मुंडेरा शाखा तथा आर्यावर्त बैंक की टोलामाफ शाखा का निरीक्षण कर लोगों से भीड़ न लगाने की अपील की तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के निर्देश दिए। इसके पश्चात जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने ग्राम टोलामाफ व सिसोलर, कस्बा मौदहा तथा ग्राम कम्हरिया में विगत कुछ दिवसों में गैर जनपदों, गैर प्रांतों से आए हुए लोगों को कोरेण्टाइन में रखे गए स्थलो, स्कूलों का निरीक्षण किया तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि बाहर से आने जाने वाले लोगो के लिए कोरेण्टाइन स्थलों पर रजिस्टर बनाकर उसमें सभी जरूरी सूचनाएं अंकित की जाए। गांव में कोरोना कोविड-19 के संबंध में जन जागरूकता हेतु की गई वांल पेंटिंग तथा
लगाए गए होर्डिंस बैनर को देखकर जिलाधिकारी ने प्रसन्नता व्यक्त की। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने कहा कि नोयडा, गाजियाबाद से आने वाले लोगों को कोरेण्टाइन स्थलों में ही अलग रखा जाये तथा अन्य स्थानों से आने वाले लोगों को अलग रखा जाए। उन्होनंे कहा कि कोरेण्टाइन स्थलों पर रहने वाले लोगों में फ्लू, खांसी, फीवर जैसी कोई समस्या होने पर तत्काल जांच कराई जाए। उन्होंने कहा कि लोगों द्वारा अपनी इम्यूनिटी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु गुनगुना पानी, निम्बू, दूध, हल्दी आदि का सेवन किया जा सकता है। उन्होनें कहा कि कोरोना कोविड-19 जैसी महामारी को हल्के में न लिया जाये तथा लाक डाउन का पालन किया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि कोरेण्टाइन किए गए स्थल स्कूलों में बाहर से आये लोगों के अलावा कोई अन्य लोग ना जाये। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले लोग कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टि से संदिग्ध हैं। अतः ऐसे लोगों से किसी भी दशा में कोरेण्टाइन अवधि में न मिला जाये। बाहर से आये ऐसे लोग यदि कोरेण्टाइन स्थल पर न रुककर इधर उधर घूमते हुए पाए जाए तो एफआईआर दर्ज कराई जाए। उन्होंने कहा कि जो लोग क्वांरेंटाइन स्थल पर नहीं रुक रहे हैं तथा अपने घरों पर जा रहे हैं। उनके घर में नोटिस चस्पा कर दिया जाए तथा ऐसे लोगों से किसी भी दशा में ना मिला जाए। ऐसे बाहर से आने वाले लोग संदिग्ध हैं तथा इनमें कोरोना कोविड-19 वायरस से संक्रमित होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि कोरेण्टाइन स्थलों विद्यालयों में सैनिटाइजर साबुन आदि की तथा साफ सफाई के समुचित प्रबंध किए जाएं तथा भोजन पानी आदि की व्यवस्था की जाये तथा बाहर से आने वाले प्रत्येक लोगों पर नजर रखी जाए। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छानी का निरीक्षण किया। जहां इमरजेंसी वार्ड में डियूटी पर डाक्टर तैनात पाए गए। उन्होंने डक्टरों से अस्पताल परिसर में साफ सफाई के बेहतर प्रबंध करने के निर्देश दिए तथा कहा कि सभी कर्मचारियों द्वारा सेवाभाव के साथ कार्य किया जाए तथा डियूटी में किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। उन्होनें कहा कि अस्पताल के कोरेण्टाइन वार्ड में रखे गए लोगों को बाहर से आये लोगों के खाने की व्यवस्था स्वास्थ्य विभाग द्वारा ही किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। इस मौके पर क्षेत्राधिकारी मौदहा सौम्या पांडे, सूचना अधिकारी रूपेश कुमार तथा अन्य संबंधित मौजूद रहे।

No comments