Latest News

कैम्प लगा बनाएं राशन कार्ड: डीएम

भोजन की लगातार शिकायत पर ध्यान दें अधिकारी
स्वयंसेवी संस्थाओं का कराएं रजिस्ट्रेशन
गौशाला न छोड़े गौवंश, क्रय केन्द्रों पर ही गेंहू बेंचें किसान

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय तथा पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं बचाव के संबंध में अधिकारियों के साथस बैठक संपन्न हुई। 
जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए कि जहां पर राशन कार्ड की समस्या अधिक है वहां पर कैंप लगाकर राशन कार्ड बनाएं। ताकि 15 अप्रैल से निशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों से कहा कि जो सूची जिला पूर्ति अधिकारी को ऑनलाइन करा दें। उसको दो दिन में फीड करा दें। सभी आवश्यक वस्तुएं रहे। किसी को भी खाद्य सामग्री की समस्या नहीं होनी चाहिए। उन्होंने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद कर्वी तथा नगर पंचायतों से कहा कि जो लोग बाहर से यहां पर आकर फंसे हुएं, असहाय है उनकी व्यवस्था ठहरने, भोजन आदि की करा दें। उन्होंने कहा कि भोजन की समस्याएं लगातार प्राप्त हो रही हैं। कंट्रोल रूम में सभी उप जिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी, अधिशासी अधिकारी ध्यान दें। किसी भी स्तर पर खाने की समस्याएं नहीं आए। कोई भी भूखा न रहे। समस्याएं मिलने पर संबंधित अधिकारी तत्काल व्यवस्था कराएं। मुख्य विकास अधिकारी ने खंड विकास अधिकारियों से कहा कि जो भी नए राशन कार्ड के आवेदन पत्र ऑनलाइन कराए जा रहे हैं उनमें संबंधित लाभार्थी के माता का भी नाम भराए तथा जो पुराने राशन कार्डों की यूनिट काटी गई है उसे पहले कवर करे। जिलाधिकारी ने कहा कि विभिन्न स्थानों पर स्वयंसेवी संस्थाएं खाना वितरण करा रही हैं तो उनका रजिस्ट्रेशन कराएं तथा किस क्षेत्र में वह कितने लोगों को वितरण करते हैं उसकी सूची भी लें और क्वालिटी की भी जांच करें। जिसकी जानकारी कंट्रोल रूम को भी दें। सभी शासकीय स्थानों पर अग्निशमन की भी व्यवस्था सुनिश्चित करा ले। मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से कहा कि जो चिकित्सालय में जो मरीज आ रहे हैं उनका अच्छी तरह से इलाज हो। सभी जगह दवाओं की व्यवस्था बनी रहे जो स्वास्थ्य टीमें लगाई गई हैं उसमें एक सुपरवाइजर भी लगाएं। बाहरी लोगों का तत्काल स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य कराएं। सर्दी, खांसी, जुकाम व बुखार के मरीजों का सैम्पल जांच के लिए अवश्य भेजें। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से यह भी कहा कि जो चिकित्सक किसी के साथ अभद्रता करे तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही कराएं। उन्होंने उप जिलाधिकारी तथा खंड विकास अधिकारी से कहा कि जो 15 अप्रैल से निशुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा उसमें उचित दर विक्रेताओं की दुकानों का निरीक्षण अवश्य करें। कहीं पर कोई समस्या नहीं होना चाहिए। किसी उचित दर विक्रेता की शिकायत प्राप्त होती है तो उसके खिलाफ तत्काल कार्यवाही कराएं। होम डिलीवरी के व्यवस्था लगातार जारी रहे। ताकि अगर लाक डाउन बढ़े तो कोई समस्या न हो। उन्होंने खंड विकास अधिकारियों से यह भी कहा कि जहां पर अस्थाई हैण्डपंप खराब है उन्हें ग्राम पंचायत तथा जो रिबोर योग्य हैं
बैठक में निर्देश देते डीएम-एसपी।
उन्हें जल निगम से बोर कराएं। सूचना प्रतिदिन जिला पंचायत राज अधिकारी को दें। कहा कि गांव में पेयजल, सफाई व्यवस्था अच्छी रहे तथा गांव में कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहे। खण्ड विकास अधिकारी प्रत्येक दिन पांच ग्राम पंचायतों का निरीक्षण अवश्य करें। गौशालाओं का संचालन सही ढंग से संचालित किया जाए। गौशालाओं से गायों को छोड़ा न जाए। अगर कहीं से भी शिकायत प्राप्त होगी तो उस ग्राम प्रधान व सचिव के खिलाफ कार्यवाही होगी। उन्होंने किसानों से अपील की है कि जो सरकारी दर गेहूं की 1925 रुपए प्रति कुंटल है उससे कम में गेहूं न बेचें। अगर कोई बिचैलिया परेशान कर रहा है तो संबंधित उप जिलाधिकारियों को अवगत कराएं। उप जिलाधिकारियों से कहा कि क्षेत्र का भ्रमण कर किसानों को जानकारी दें। ताकि उन्हें सरकारी मूल्य मिल सके और गेहूं क्रय केंद्रों में अधिक से अधिक रजिस्ट्रेशन कराकर किसान अपना गेहूं सरकारी क्रय केंद्रों पर बेचें। उन्होंने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि विद्युत की कटौती किसी भी दशा में नहीं होना चाहिए। अगर कोई फाल्ट आए तो तत्काल उसे ठीक करें। जिलाधिकारी ने कृषि पंचायती राज, श्रम, औषधि की उपलब्धता, मनरेगा आदि विभिन्न योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, उप जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, खंड विकास अधिकारी आदि मौजूद रहे।

No comments