Latest News

जहां प्रशासन न पहुंचे वहां मदद करें स्वयंसेवी संस्थाएं: डीएम

लाक डाउन में वरदान साबित होंगें टेली मेडिसिन सेंटर, आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराएं अधिकारी
विद्युत तार टूटने की घटनाओं पर लाइनमैन, अवर अभियंताओं के खिलाफ होगी कार्यवाही
संस्थाओं ने आपदा राहत कोष में दिए चेक

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल की उपस्थिति में कोरोना वायरस रोकथाम, असहाय एवं गरीबों की व्यवस्था से संबंधित बैठक संबंधित अधिकारियों, स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।
जिलाधिकारी ने स्वयंसेवी संगठन से कहा कि कोरोना वायरस के चलते सहयोग के लिए शासन से निर्देश प्राप्त हुए हैं। जिस पर सहयोग भी कर रहे हैं। सामुदायिक किचन, शेल्टर होम, सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरूक करना है। सफाई, कीटनाशक दवाएं, मास्क की भी व्यवस्था की जाए। जिस क्षेत्र पर व्यवस्था करना है उस क्षेत्र की सूची दें। ताकि शासन को भेजा जा सके। उन्होंने जिला कृषि अधिकारी से कहा कि स्वयंसेवी संगठनों का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर पुलिस अधीक्षक, मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारियों को जोड़ें। ताकि सूचनाओं का आदान-प्रदान भी हो सके। उन्होंने कहा कि जो स्वेच्छा से व गंभीर रूप से असहाय व गरीबों की मदद करना चाहते हैं उन्हें भी जोड़ लिया जाए। स्वयंसेवी संगठनों के लोगों ने सुझाव दिए। जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि प्रशासन कार्य कराएगा। वह भी आगे बढ़कर कार्य करें। ग्राम स्तर पर समिति भी जन जागरूकता पर कार्य कर रही हैं जो बाहर से व्यक्ति आए हैं उनका पूरा विवरण आशा, एएनएम के पास है और वह अपने घरों पर हैं। उनका स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जा रहा है। जहां पर जिला प्रशासन न पहुंच पा रहा हो वहां पर जाकर व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं। इस संबंध में नीति आयोग भारत सरकार तथा प्रदेश सरकार ने दिशा-निर्देश भी दिए हैं। जिलाधिकारी को स्वयंसेवी संगठनों के लोगों ने मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता राहत कोष में सहयोग के लिए चेक भी प्रदान किए।
बैठक में निर्देश देते डीएम।
जिलाधिकारी ने कहा कि टेली मेडिसीन के माध्यम से शनिवार को छह मरीज का इलाज किया गया। जन उपयोगी कार्य शुरू हुआ है। लाक डाउन के दौरान वरदान साबित होगा। इसे लगातार संचालित करते रहे। कहा कि आरोग्य सेतु एप अनिवार्य रूप से डाउनलोड सभी विभाग कर्मचारियों को करा दें और इसकी सूचना भी उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि इसमें शिक्षकों, प्रधान और सचिव तथा अन्य कर्मचारियों के माध्यम से आम जनमानस में भी शत-प्रतिशत डाउनलोड कराएं। उन्होंने कहा कि 20 अप्रैल से जो अनुमति प्रदान किया जाना है उसमें शासन से निर्देश प्राप्त हुए हैं। अच्छी तरह से अध्ययन कर अनुपालन सुनिश्चित कराएं। जिला पूर्ति अधिकारी से कहा कि खाद्यान्न को लेकर कंट्रोल रूम में जो समस्याएं प्राप्त हुई है उनकी सूची लेकर पूर्ति निरीक्षक को लगाकर वितरण कराएं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी, उप जिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी क्षेत्रों का भ्रमण करें। कोई भी छिपा हुआ व्यक्ति कोरोना वायरस से ग्रसित तथा तब्लीगी जमात के न रहे। ऐसी स्थिति को देखते हुए अभी से ही जानकारी प्राप्त कर लें। जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों से यह भी कहा कि खाद्यान्न वितरण में जो नोडल अधिकारी लगे हैं उनकी चेकिंग भी करें जिन लोगों के राशन कार्ड बनाया जाना है उसमें पात्रता की श्रेणी अवश्य नियमानुसार देखी जाए। उन्होंने डिप्टी आरएमओ तथा एआर कोऑपरेटिव को निर्देश दिए छीबो तथा ऐचवारा में गेहूं क्रय केंद्र खोलें तथा सभी जगह गेहूं खरीद कराएं। नगर में सार्वजनिक स्थानों पर पेयजल व्यवस्था कराएं तथा वहां पर कर्मचारी भी लगें। इसी प्रकार सभी कार्यालयों पर भी घड़े रखवाकर शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करें। इसके अलावा हैंड वॉश तथा सैनिटाइजर जरूर रखा जाए। उन्होंने सभी बैंकों के अधिकारियों से भी कहा कि सभी व्यवस्थाएं बैंकों पर रहे तथा भीड़  न हो। गोशालाओं पर खंड विकास अधिकारी भूसा घर तथा भूसा बैंकों पर भूसा दानं कराएं। गांव-गांव अभियान चलाकर यह कार्य सुनिश्चित करा लिया जाए। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए क्षेत्रों का भ्रमण कर व्यवस्था दुरुस्त करें। विद्युत तार टूटने से फसल पर आग लग रही है। समस्या लगातार बढ़ रही है। तीन दिन के अंदर ठीक कराएं। अगर ऐसी जनपद में घटनाएं हुई तो संबंधित लाइनमैन तथा अवर अभियंता के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। जिन किसानों की फसल जली है उनको मुआवजा भी दिलाया जाए। उन्होंने इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक मैनेजर परितोष सिंह को निर्देश दिए की पोस्ट मास्टर के माध्यम से अधिक से अधिक गांव में लोगों के मध्य पैसों का वितरण कराएं। जिलाधिकारी ने कृषि, श्रम मनरेगा, पंचायती राज, गौशालाओं का संचालन, विद्युत, पेयजल आदि विभिन्न बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा की। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डॉ महेंद्र कुमार, अपर जिलाधिकारी जीपी सिंह, उप जिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी समेत स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

No comments