Latest News

लॉकडाउन कानपुर:- कोरोना के लॉकडाउन में फंसा तोतापरी आम

तोतापरी और बादामी आम में कोरोना संकट का ग्रहण लग गया है। मार्च के अंतिम सप्ताह में आने वाला तोतापरी अभी तक बाजार में नहीं है। व्यापारियों की डिमांड पर कर्नाटक से दो दिन में दो ट्रक माल किसी तरह बाजार में पहुंचा है। तेलांगना से आने वाला बादामी आम तो अभी आने की उम्मीद ही नहीं है।
कानपुर सवांददाता:- हर साल अप्रैल का महीना शुरू होते ही तोतापरी और बादामी आम बाजार में छा जाता था। मैंगो शेक की दुकानों में यह आम खूब नजर आने लगता था। सब्जी विक्रेता मिश्री लाल का कहना है कि मार्च के अंत में व्यापारी आम मंगाने लगते थे। इस बार तोड़ा टूटा ही नहीं। अब थोक व्यापारियों ने संपर्क करना शुरू किया है। एक ट्रक में लगभग 20 टन माल आता है।

तेलंगाना से आता है बादामी आम
तोतापरी आम दक्षिण भारत के कर्नाटक और आंध्रप्रदेश से आता है। बादामी आम का कारोबार तेलंगाना से होता है। तेलंगाना से अभी भी माल नहीं आना शुरू हुआ।

दोनों आम चकरपुर सब्जी मंडी से फतेहपुर, रायबरेली और आसपास के जिलों में भी जाता है।

कोल्डस्टोरेज का सेब और संतरा
सेब और संतरा अब कोल्ड स्टोरेज से आ रहा है। सेब कश्मीर और शिमला से आता है। शिमला की नई फसल जुलाई या अगस्त से आएगी। कोल्डस्टोरेज में स्टोर संतरा भी खत्म होने वाला है। अब रोज पांच या छह ट्रक संतरा ही आ रहा है। केला भुसावल, मध्यप्रदेश से आ रहा है। अंगूर भी महाराष्ट्र से खूब आ रहा है। रविवार को भी 10 ट्रक अंगूर आया।

इनका कहना
हर साल अप्रैल में तोतापरी आम की मारामारी रहती थी। इस बार कोरोना ने आम लोगों तक पहुंचने नहीं दिया। किसान आम तोड़ ही नहीं पाए। ट्रकों का आवागमन भी बंद रहा। कर्नाटक से पहली बार दो ट्रक माल आया है।
-उमेश सिंह तोमर, अध्यक्ष, फ्रूट मर्चेंट्स एसोसिएशन

No comments