Latest News

आन लाइन क्लासेज के जरिये पढ़ रहे पूर्व माध्यमिक विद्यालय टिकरौली के बच्चे

हमीरपुर, महेश अवस्थी । कोरोना वायरस  के कारण विद्यालय बंद होने पर भी बेसिक शिक्षा के बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने और शिक्षण प्रदान करने के लिए जनपद हमीरपुर के पूर्व माध्यमिक विद्यालय टिकरौली  विकासखंड सुमेरपुर जनपद हमीरपुर के शिक्षक अकबर अली द्वारा एक सार्थक पहल करते हुए अपने विद्यालय के बच्चों के साथ बच्चो की पढ़ाई जारी रखने के लिए एक अभिभावक और छात्र और छात्राओ का व्हाट्सएप ग्रुप बनाया है। इसकी जानकारी पहले फोन करके बच्चों के अभिभावकों को दी और उनके माध्यम से बच्चों से बात कर जोडा । इस समय इसकी उपयोगिता बताते हुए पढाई करने को प्रेरित किया। इसमे बच्चो को अपने विषय विज्ञान के साथ ही अन्य विषय से संबंधित शिक्षण साम्रगी तथा बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा जारी समस्त विषय की आन लाइन पुस्तकों को उपलब्ध कराते हुए शिक्षण निर्देश भी देते है। इसमे कक्षा वार संबंधित शिक्षण सामग्री होती है। बच्चे प्रतिदिन इसे पढते और गृह कार्य करते है। इस कार्य मे अभिभावक भी बच्चो का पूरी तरह सहयोग कर खुशी जाहिर कर रहे हैं। 

इनके इस प्रयास में विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्यों  द्वारा विद्यालय के ज्यादातर बच्चो को व्हाट्सएप से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। ग्राम प्रधान राम प्रसाद पाल  ने इस पहल की सराहना की और सहयोग भी दिया है। उनका कहना है कि इस कार्य से जुड़कर बच्चे पढ़ाई से प्रतिदिन जुड़े रहेगे और अपने समय का भी सदुपयोग करेगे। यद्यपि सभी अभिभावको के पास एन्ड्राॅयड फोन नही है। जिससे यह कार्य 100 प्रतिशत नही हो पा रहा है। आरोग्य एप भी अपने व अपने परिवार के साथ ही जानने वालो को लोड करने का अनुरोध किया गया है।   शिक्षक अकबर अली ने बताया कि उनके द्वारा चलाए जा रहे हैं ऑनलाइन क्लासेस एवं व्हाट्सएप ग्रुप में प्रतिदिन प्रातः विद्यालय समय 10:00 बजे बच्चे उपस्थित हो जाते हैं तथा उनको प्रतिदिन विषय वार कार्य दिया जाता है एवं उनकी समस्या को फोन द्वारा शिक्षक द्वारा निराकरण किया जाता है जिसमें बच्चे दिन में अपना कार्य कॉपी में करते हैं। तथा सायंकाल तक अपने कार्य को फोटो खींचकर ग्रुप में अपलोड करते हैं जिसकी जांच कर रात्रि तक शिक्षक अकबर अली द्वारा सुझाव सहित उनके व्यक्तिगत अथवा एवं व्हाट्सएप ग्रुप में पुनः भेज दिया जाता है। इस प्रकार बच्चे रात्रि में अपने कार्य को गृह कार्य के रूप में पुनः संशोधित कर लेते हैं । शिक्षक ने बताया कि उनके इस कार्य में ग्राम के कई जागरूक लोगों द्वारा सहयोग प्रदान किया जा रहा है तथा उनके द्वारा गांव में इस संबंध में जागरूकता कर बच्चों एवं उनके अभिभावकों को शिक्षण व्हाट्सएप ग्रुप में ज्वाइन कराया जा रहा है ।  जिससे ज्यादा से ज्यादा बच्चे शिक्षण का फायदा ले सकें ।  इसके साथ ही उन्होंने बताया कि कक्षा 5 पास कर चुके बच्चों को फोन द्वारा संपर्क कर विद्यालय में प्रवेश कक्षा 6 में लिया जा रहा है । इस प्रकार कक्षा 5 उत्तीर्ण हो रहे बच्चे कक्षा 6 में प्रवेश लेकर अपनी पढ़ाई निरंतर जारी रखे हुए हैं । और उनका नामांकन पूर्व माध्यमिक विद्यालय टिकरौली में किया जा रहा है। कागजी कार्रवाई विद्यालय खुलने पर बाद के कर ली जाएगी ।उन्होंने बताया कि कुछ बच्चों के पास नेटवर्क डाटा होने की भी समस्या आ रही थी । जिसमें लगभग एक दर्जन बच्चों को 15 दिन का निशुल्क डेटा उनके द्वारा अपने फोन के पेटीएम से रिचार्ज कर उपलब्ध कराया गया है । जिससे पढ़ाई में बच्चों को किसी प्रकार की रुकावट ना हो और इस समय सबसे अच्छा योगदान एक शिक्षक के रूप में यही है, क्योंकि कुछ बच्चो के घरो में आर्थिक समस्या है । जिससे कि वह स्वयं से अपना रिचार्ज नहीं करा सकते । अतः उनके फोन में डाटा पैक का रिचार्ज भी कराया जा रहा है।अकबर अली ने अनुरोध किया है  कि कोई भी बच्चा कक्षा 6, 7, 8 का ,यदि इस ऑनलाइन क्लास कक्षा का लाभ लेना चाहता है तो वह उनके व्हाट्सएप नंबर 9450263267 पर मैसेज भेज कर इसका लाभ ले सकता है। जिससे कि उसकी पढ़ाई निरंतर जारी रहे। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत टिकरौली में उनके छात्र सत्येंद्र कुमार, शुभम कुमार, आरती देवी एवं ग्राम प्रधान राम प्रसाद पाल को भी ग्रुप का एडमिन बना कर उनके द्वारा भी   सोशल डिस्टेंस बनाए रखते हुए बच्चों को ग्रुप में जोड़ा जा रहा है । जिससे कि ज्यादा से ज्यादा बच्चे शिक्षण जारी रख सकें और बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा जारी पुस्तकों का लाभ उठा सकें। उनके इस प्रयास पर उतर प्रदेश राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद लखनऊ के संयुक्त निदेशक अजय सिंह ने उनके प्रयास की सराहना कर सभी पुस्तकों की ई कॉपी भी शिक्षक को उपलब्ध कराई गई है ।  जिसके द्वारा बच्चों को पुस्तकें भेजकर शिक्षण कार्य कराया जा रहा है। शिक्षक के इस प्रयास की ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी सुमेरपुर  व्यास देव एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सतीश कुमार ने प्रशंसा की तथा अनुश्रवण कर ज्यादा से ज्यादा बच्चों को लाभ पहुंचाने का आदेश भी दिया।।

1 comment: