Latest News

लॉकडाउन कानपुर:-चिड़ियाघर में बढ़ी सतर्कता, बाड़ों में सैनिटाइजेशन

न्यूयॉर्क के चिड़ियाघर में एक बाघिन को कोरोना होने से स्थानीय चिड़ियाघर में भी सतर्कता बढ़ा दी गई। सभी दुर्लभ वन्य प्राणियों की निगरानी के साथ जू कीपरों व अन्य कर्मचारियों पर नजर रखी जा रही है। इनमें से किसी में कोरोना जैसे लक्षण दिखने पर तत्काल चिड़ियाघर प्रशासन को सूचित करने को कहा गया है, ताकि शुरुआत में ही समुचित इलाज हो सके।  
आमजा भारत सवांददाता:- न्यूयॉर्क के ब्रोंक्स चिड़ियाघर में बाघिन में कोरोना की पुष्टि को दुनिया का ऐसा पहला मामला बताया जा रहा है।  स्थानीय चिड़ियाघर के डॉ. यूसी श्रीवास्तव ने बताया कि सभी दुर्लभ वन्य प्राणियों पर नजर रखी जा रही है। सभी स्वस्थ हैं। इनकी देखरेख करने वाले कर्मचारी भी स्वस्थ हैं। देश में लॉकडाउन लागू होने से पहले ही चिड़ियाघर प्रशासन ने यहां दर्शकों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी। जो अभी भी जारी है। कर्मचारियों को एहतियातन दवा खिलाई गई है।

बाड़ों में कराया सैनिटाइजेशन
कोरोना से बचाव के लिए चिड़ियाघर प्रशासन ने मंगलवार को बाड़ोें में सैनिटाइजेशन कराया। साथ ही चिड़ियाघर के प्रवेश द्वार पर सभी अधिकारियों के वाहन भी सैनिटाइज हुए। टायर धोने के बाद इन वाहनाें को प्रवेश मिला। प्राणी उद्यान के निदेशक सुनील चौधरी ने बताया कि कर्मचारियों, वन्य प्राणियों को संक्रमण से बचाने के लिए हर संभव प्रयास हो रहे हैं।

पीपीई किट भी खरीदी जा रही है। बिल्लियों के घरों में सीसीटीवी नेटवर्क को और मजबूत किया जा रहा है। क्वारंटीन और आइसोलेशन के लिए जगह चिह्नित और साफ कर ली गई है। प्रभारी पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. आरके सिंह मुख्य चिकित्सा अधिकारी के संपर्क में हैं। कहा कि सभी पशुओं को इम्यूनोमॉड्यूलेटर के साथ मीट दिया जा रहा है।

चिड़ियाघर में दुर्लभ सहित अन्य पशु, पक्षियों की कुल संख्या- 1487
दुर्लभ व मांसाहारी वन्य प्राणी - 101, इनमें 5 शेर, 8 बाघ, 24 तेंदुआ और 64 सियार, लकड़बग्घा, लोमड़ी, भेड़िया आदि शामिल।

No comments