Latest News

शराब की दुकानों को आबकारी विभाग ने किया सील

20 दुकानें सील हुईं, तीन दिन जारी रहेाग सिलसिला 
जनपद की सभी दुकानों को किया जाएगा सील 

बांदा, कृपाशंकर दुबे । जनपद में शराब की दुकानों से चोरी छिपे बिक्री की जा रही थी। महंगे दामों में शराब बेची जा रही है। ऐसी तमाम शिकायतों के बाद चित्रकूटधाम मंडलायुक्त गौरव दयाल ने आबकारी विभाग के पेंच कसे। इस पर आबकारी विभाग ने अभियान चलाकर 20 शराब की दुकानों को सील कर दिया गया। आबकारी अधिकारी ने बताया कि सभी दुकानें जनपद की सीज की जाएंगी। तीन दिनों के अंदर कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा। 25 मार्च से लाक डाउन लागू किया गया था। तब से देशी, विदेशी मदिरा और बीयर की दुकानें पूरी तरह से बंद हैं। दुकानें बंद होने के बावजूद सेल्समैन और बिचैलिये महंगे दामों में शराब की कालाबाजारी करते हुए मुनाफा कमा रहे हैं। इस बात की शिकायतें जनपद के आला अधिकारियों और आबकारी विभाग के अधिकारियों के पास पहुंची थीं, लेकिन आबकारी विभाग कुछ ढीला नजर आया, लेकिन आयुक्त चित्रकूटधाम मंडल गौरव दयाल ने मामले को गंभीरता से लिया।
मदिरा की दुकान को सीज करते आबकारी विभाग के अधिकारी
आबकारी विभाग को कार्रवाई के निर्देश दिए। आयुक्त के निर्देश पर जिला आबकारी अधिकारी संतोष कुमार के निर्देश पर अधिकारियों ने गुरुवार को पहले दिन शहर की 20 देशी और विदेशी मदिरा की दुकानों को सील किया है। गौरतलब हो कि 128 देशी, 54 विदेशी मदिरा और 39 वीयर की दुकानें शामिल हैं। शासन ने कोरोना महामारी को रोकने के लिए लाकडाउन के पहले ही दिन से 24 मार्च को शराब की दुकानें बंद रखने के निर्देश दिए थे। जिला आबकारी अधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि तीन दिन के अंदर जिले की देशी और विदेशी मदिरा समेत बीयर की दुकानों को सीज करने की कार्रवाई की जाएगी, ताकि दुकानें खोलकर या चोरी छिपे अवैध कारोबार न किया जा सके। दुकानें सीज करने के लिए कई टीमें लगाई गई हैं। यह भी बताया गया कि मदिरा की अवैध बिक्री पर रोक लगाने के लिए यह कार्रवाई की जा रही है। आबकारी अधिकारी ने बताया कि उन्हें लगातार सूचनाएं मिल रही थीं कि जिले में चोरी छिपे मदिरा की अवैध बिक्री की जा रही है। इसी के तहत यह कार्रवाई की जा रही है। किसी भी हाल में अवैध बिक्री नहीं होने दी जाएगी। 

No comments