Latest News

एक अदद लंच पैकेट की आस में गरीब!

बांदा, के0 एस0 दुबे - शासन हो या प्रशासन, जनप्रतिनिधि हों या फिर समाजसेवी, राजनीतिक दलों के लोग भी, सभी यह दावा करते थक नहीं रहे हैं कि किसी गरीब को भूखे पेट सोने नहीं दिया जाएगा। लेकिन गुरुवार को रोडवेज बस स्टैंड के पास एक दुकान की शटर के नीचे एक तकरीबन 50 वर्षीय गरीब व्यक्ति महज इसलिए इंतजार में बैठा रहा, कि शायद को रहनुमा
आए और उसे लंच पैकेट दे दे, ताकि उसका पेट भर सके। बताते हैं कि कई घंटे बैठे रहने के बावजूद इस गरीब को एक लंच पैकेट भी नसीब नहीं हो सका। आशा भरी निगाहों से वह आने-जाने वालों को देखता रहा, लेकिन कोई रहनुमा उसकी भूख मिटाने के लिए लंच पैकेट लेकर नहीं आया। गरीब ने बताया कि वह अलीगंज इलाके का रहने वाला है। 

No comments