Latest News

धर्मगुरु आडियो-वीडियो के जरिए करें जागरुक

डीएम-एसपी ने बैठक कर कोरोना बचाव के बारे में की विस्तृत चर्चा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय तथा पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने शुक्रवार को कोतवाली में मठ मंदिरों के साधु, संतों, गुरुद्वारा तथा मस्जिदों के अनुयायियों से कोरोना वायरस के रोकथाम एवं बचाव के संबंध में विस्तृत चर्चा की।
जिलाधिकारी ने सभी धर्मों के अनुयायियों से कहा कि जनता के बीच संदेश भेजें कि इस महामारी से कैसे बचा जा सके। समाचार पत्र तथा इलेक्ट्रॉनिक चैनल व व्हाट्स एप ग्रुप में अपने ऑडियो, वीडियो भेज कर लोगों को जागरूक करें। इसके अलावा क्षेत्रों में भी निकल कर लोगों को जागरूक करें। साधु संतों से कहा कि मठ मंदिरों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य कराएं। उन्होंने मस्जिदों के काजी व मौलवी से कहा कि शहर में कैसे इस महामारी से बचाएं इसमें सहयोग रहता है, लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कोरोना से लड़ने का सबसे बड़ा उपचार सोशल डिस्टेंसिंग है। मस्जिदों पर कोई  नमाज पढ़ने न आए। वहां पर ताला बंद कर दे। घरों पर नमाज अदा करें और लोगों को बताएं कि कुछ दिनों के लिए है।
धर्मगुरुओं के साथ डीएम-एसपी की बैठक।
इसका परहेज करें तो इस महामारी से बच सकते हैं। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि यह देखें कि निजामुद्दीन दिल्ली से अगर कोई व्यक्ति आया है उसकी जानकारी हो तो तत्काल बताएं, क्योंकि यह खतरा सबके लिए है। धर्मगुरुओं की बात सब कोई सुनता है। कोई समस्या हो तो अवगत कराएं। तत्काल निस्तारण किया जाएगा। कामतानाथ प्रमुख द्वार के महंत मदन गोपाल दास ने कहा कि भगवान कामतानाथ की कृपा है। चित्रकूट की धर्मनगरी पर कुछ नहीं होगा। सबको मिल कर इस महामारी से निपटना है। कजियाना मस्जिद के हाफिज मुर्जीबुर्रहमान ने कहा कि समाज को अधिक से अधिक जानकारी महामारी के बचाव के संबंध में देंगे। जिला प्रशासन द्वारा जो भी निर्देश दिए जाएंगे उनका पालन कराया जाएगा। इस अवसर पर दिगम्बर अखाड़ा के महंत दिव्य जीवन दास, मत्यगजेन्द्रनाथ मंदिर के पुजारी प्रदीप महाराज, शहर काजी सरफराज अहमद, जामा मस्जिद के उबेद हाफिज सहित उप जिलाधिकारी कर्वी अश्विनी कुमार पाण्डेय, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर रजनीश यादव, कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अनिल सिंह आदि मौजूद रहे। 

No comments