Latest News

पूर्ति निरीक्षक की प्रताड़ना से तंग आकर कोटेदार फांसी पर झूला

कालपी (जालौन), अजय मिश्रा । पूर्तिनिरीक्षक की प्रताड़ना से तंग आकर कोटेदार ने फांसी लगाकर जान दे दी पूर्ति निरीक्षक ने उसे धारा 3/7 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की धमकी दी थी और इसके लिए फर्जी रिपोर्ट बनाकर जिला प्रशासन को भेज दी थी । रविवार की दोपहर को अज्ञात कारणों के चलते समीपवर्ती ग्राम रामपुर में युवा कोटेदार ने फांसी लगाने से मौत हो गई। कालपी कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम रामपुर निवासी रणधीर सिंह पुत्र श्याम सुंदर (30 वर्ष) पिछले तीन-चार वर्षो से सरकारी उचित दर की दुकान चला रहा था। बताते हैं कि काफी दिनों से वह परेशान रहता था। रविवार की दोपहर करीब 1 बजे घर के अंदर कमरे में फांसी झूल गया। घरवालों जैसे ही खबर लगी तो कोहराम मच गया। आनन-फानन में
पूर्ति निरीक्षक को जिम्मेदार ठहराते परिजन
रणधीर सिंह को सीएचसी में कार्यवाहक चिकित्साधीक्षक ने उसे मृत घोषित कर दिया तथा सूचना पुलिस को भेज दी गई है। जिसके बाद पुलिस  कार्यवाही करने में जुट गई। उल्लेखनीय है कि पूर्ति निरीक्षक कमल सिंह के द्वारा राशन के कोटे की दुकान का निरीक्षण किया गया  था उस समय कोटेदार मौके पर मौजूद नहीं था इससे खुन्नस खाकर पूर्ति निरीक्षक कमल सिंह ने फर्जी रिपोर्ट बनाकर और गांव के ही कुछ लोगों की गवाही लेकर कोटेदार के खिलाफ लंबी चौड़ी चार्जशीट लगा दी थी  जिसमें कोटेदार को धारा 3/7 का मुलजिम ठहराया गया है था जिससे भयभीत होकर और जेल जाने के डर से उसने आत्महत्या कर ली मृतक के परिजनों कोटेदार की मौत के लिए पूर्ति निरीक्षक कमल सिंह को जिम्मेदार ठहराया है और उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

No comments