Latest News

आज प्रधानमंत्री कोष में कोरोना से लड़ने हेतु दान देने की जरूरत.................

देवेश प्रताप सिंह राठौर
(वरिष्ठ पत्रकार)

पूरा विश्व कोरोना वायरस से परेशान है ।उसी के तहत आज भारत में भी कोरोनावायरस के लक्षण बढ़ते जा रहे हैं लोगों की संख्या बढ़ती जा रही हैं पूरा भारत लॉक डाउन चल रहा है ऐसी स्थिति में सारी अर्थव्यवस्था अस्त व्यस्त है।सभी संचालन बंद चल रहे हैं बहुत से उद्योगपतियों द्वारा समाजसेवी द्वारा प्रधानमंत्री कोष में कोरोनावायरस की लड़ाई हेतु दान किया है ।लेकिन अफसोस की बात यह है जो लोग नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में लड़ रहे थे उनके किसी भी एक भी व्यक्ति द्वारा प्रधानमंत्री कोष में दान नहीं दिया गया जबकि फिल्मी हस्ती से लेकर राजनीति और उद्योगपति बहुत से हैं  जो अन्य अपने मजहब के नाम से पैसा बांटते हैं ,पर आज उन्होंने देश की परेशानी को देखते हुए प्रधानमंत्री कोष में दान नहीं दिया बहुत से फिल्मी  एक्टर है जो आए दिन सुर्खियों में रहते हैं अपनी अभद्र भाषा में बोलने के कारण आज उनकी राष्ट्र हित के लिए जवान बंद है। मैं इस देश का सभी सच्चे नागरिकों से अपील करना चाहता हूं
यह संकट में प्रधानमंत्री कोष में राहत के तौर पर कुछ दान अवश्य करें जिसकी जितनी सामर्थ हो उतना उसे करने की जरूरत है ,देश पूरा लॉकडाउन है अपना देश मैं गरीब कमजोर मजबूर मजदूर आज के कार्यों से वंचित है जो रोज कमाते हैं रोज खाते हैं।क्योंकि आज भारत का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के होने के कारण भारत को बहुत ही हिम्मत और मजबूती है पूरा विश्व आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ कर रहा है वहीं पर विपक्ष आज भी ऐसे संकट में विरोध के सिवाय कुछ नहीं कर रही है बहुत से लोग कहते हैं कि आज अगर देश का प्रधानमंत्री इतना मजबूत नहीं होता तो आज देश की स्थिति इस कोरोनावायरस के कारण और खराब हो गई होती क्योंकि विपक्ष के लोग सिर्फ आग उगलते हैं। उन्हें देश में क्या हो रहा है इस समय क्या कहना है उससे कोई मतलब नहीं हर अच्छे कार्य में उन्हेंबुराई ढूंढना है मेरे संज्ञान में अभी तक ऐसा कोई व्यक्ति नहीं आया है जो इस देश के अल्पसंख्यक कहे जाते हैं जो अल्पसंख्यक नहीं है आज बहुसंख्यक संख्या मैं हो गए हैं उनके किसी भी क्षेत्र के हो फिल्मी दुनिया के हो या राजनीति से हो या उद्योगपतियों हो  किसी किसी ने प्रधानमंत्री कोष में इतना पैसे होने वाले व्यक्तियों ने दान नहीं दिया । आप समझ सकते हैं कि देश कितना संकट में है और यह लोग की मानसिकता कितनी खराब और गंदी है। आज ही संकट में देश के साथ नहीं है कैसे हैं देश भक्ति बन पाएंगे मुझे नहीं लगता है की यह लोग सरकार चाहे जितनी सुविधाएं दे परंतु इनकी सोच है मानसिकता सिर्फ देश विरोधी ही रहती है।

No comments