Latest News

कोरोना संकट: सड़के वीरान, मदद को लोगों ने बढ़ाये हाथ

सामाजिक संस्था एवं व्यापारियों ने सड़क से गुजरने वाले लोगों में बांटे लंच पैकेट
घर-घर जाकर गरीबो की मदद को दे रहे राशन

फतेहपुर, शमशाद खान । कोविड-19 के संक्रमण से देशवासियो को बचाने के लिये किये गए लॉक डाउन के बाद भी शहर की सड़कों में जहां सन्नाटा पसरा हुआ है वही दिल्ली एनसीआर, हरियाणा, गुजरात आदि प्रान्तों को गये मेहनतकश लोगो का वापस आना जारी है। भूखे प्यासे घर को आने की चाहत में सैकड़ो किलोमीटर की दूरी में लोग कही ट्रकों समेत किसी साधन का तो कभी पैदल ही मंजिल को चल रहे है। ऐसे परेशान हाल लोगो के लिये समाजसेवियों संस्थाओं द्वारा राहत कार्य किया जा रहा है। 
ट्रक पर सवार लोगों को लंच पैकेट वितरित करते समाजसेवी।
मंगलवार को मानव सेवा परिवार द्वारा शहर के भिटौरा बाईपास पहुँच कर सैकड़ो किलोमीटर की यात्रा कर आने वाले परेशान हाल यात्रियों को संस्था के अध्यक्ष नारायण बाबू की अगुवाई में लांच पैकेट व पानी दिया गया। संस्था द्वारा लगतार बाहर से आ रहे लोगो को राहत पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। वही गर्मी बढ़ने एव कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए लोग भी सजग हो रहे है। पुलिस की सख्ती व लोगो की जागरूकता के कारण दोपहर में अधिकतर सड़के खामोश रही। सड़को पर इक्का दुक्का जरूरतमंद या मेडिकल इमरजेंसी के करण लोग आते जाते दिखाई दिए। लॉक डाउन में शहर में खाने पीने समेत आवश्यक वस्तुओं की दुकानों का ससमय खुलना जारी है। लोगो की जरूरतों को देखते हुए प्रसासन द्वारा दूध व सब्जियों को बिक्री के लिये मोहल्लों में भेजने की व्यवस्था कर दी गयी। देश मे कोरोना मरीजो की बढ़ती संख्या को देखते हुए लोग लॉक डाउन का और गंभीरता से पालन कर रहे है। लॉक डाउन के दौरान रोज के कमाने खाने वाले गरीब परिवारों को समाजसेवियों द्वारा लगतार राशन सब्जियों समेत खाने पीने की वस्तुएँ देकर राहत पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। समाजसेवा में आम जनमानस एव व्यपारी वर्ग भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे है और अस्पतालों में काम कर रहे स्वास्थ कर्मियों सफाई कर्मचारियों को लंच पैकेट देने के साथ ही एव मलिन बस्तियों में घर घर जाकर लोगो को जरूरत की वस्तुएं दे रहे है। दूर दराज से आने जाने वाले लोगो को भी लंच पैकेट आदि देने का कार्य कर रहे है। साथ ही लोगो को कोरोना संक्रमण से बचाव के तरीके व सोशल डिस्टेंस बनाये रखने की जानकारी दी जा रही है।

No comments