Latest News

लॉकडाउन कानपुर:- हद कर दी, सहूलियत मिलते ही भूल गए सोशल डिस्टेंसिंग

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लागू शहर में लॉकडाउन के दौरान होम डिलीवरी सप्लाई चेन न टूटने पाए। इसके लिए जिला प्रशासन ने थोक राशन और दवा दुकानों को दिनभर खुलने की छूट दी है। सहूलियत के पहले दिन खरीदारी को मार्केट पहुंचे लोगों ने नासमझी का परिचय दिया। सोशल डिस्टेंसिंग ही भूल गए। दुकानों पर एकाएक भीड़ टूटने से नयागंज, कलक्टरगंज और बिरहानारोड में शनिवार सुबह जाम सा नजारा रहा।
आमजा भारत कार्यालय सवांददाता:- दवा, गल्ला, आटा, तेल व किराना थोक बाजार शनिवार को सुबह 6:00 बजे से ही खुल गए। फर्रुखाबाद, उन्नाव, फतेहपुर तक के व्यापारी माल लेने पहुंचे। व्यापारियों ने बताया कि प्रशासन ने वाहन पास जारी किए हैं। शहर के फुटकर दुकानदार भी काफी संख्या में लोडर, खड़खड़ा, रिक्शा, ई-रिक्शा और बाइक से सामान लेने पहुंचे । बाजारों में जाम की स्थिति नजर आई। सोशल डिस्टेंसिंग का मानक पालन होता नहीं दिखा । पुलिस ने घूम-घूमकर लोगों को लाइन लगाकर ही माल देने की हिदायत दी। पुलिस के जाते ही लोग फिर से दुकानों पर टूट पड़े। प्रशासन ने होम डिलीवरी की चेन न टूटने की मंशा से बिरहानारोड दवा और नया गंज किराना, कलेक्टर गंज राशन की दुकानों को खोलने का आदेश दिया है। ये बाजार शाम 6:00 बजे तक खोलने का आदेश है।

No comments