Latest News

ईश्वर के दूजे रूप चिकित्सकों का रोटी घर ने पुष्प वर्षा कर किया सम्मान

कोरोना से डाक्टरों की मृत्यु पर उन्हें मिले शहीद का दर्जा: स्मिता सिंह
लगातार 15 वें दिन 90 परिवारों तक पहुंचाई खाद्य सामग्री
 
फतेहपुर, शमशाद खान । समूचे विश्व में कोरोना आपदा के समय ईश्वर के रूप में अपनी भूमिका अदा करने वाले चिकित्सकों का आज नारी स्मिता फाउंडेशन रोटी घर के तहत संचालिका स्मिता सिंह के नेतृत्व में सदर अस्पताल में सीएमएस डॉ0 प्रभाकर पाण्डेय, आनंद बाजपेई सहित चिकित्सकों नर्सों वार्डबॉय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का पुष्पवर्षा कर सम्मान कर उनका मनोबल बढ़ाया। साथ ही स्वच्छता के दृष्टिगत हैंडवाश भी दिए गए। 
स्मिता सिंह ने उन्हें भगवान का दूसरा रूप का दर्जा देते हुए उनके कार्यों की एवं देश प्रेम के भावों की प्रशंसा की। साथ ही शासन से अपनी चिकित्सा सेवा के दौरान मृत्यु हो जाने पर शहीद
सदर अस्पताल में चिकित्सकों पर पुष्प वर्षा करते रोटी घर के पदाधिकारी।
का दर्जा दिलाने की भी अपील की। उन्होंने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना के बाबत भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन है। जिस के क्रम में आज लगातार 15 दिन रोटी घर द्वारा गोद ली हुई जरूरतमंद बस्ती लोधी पुरवा के 70 परिवारों में खाद्य सामग्री का भी वितरण किया गया। इसके अलावा राधानगर, देवीगंज, मसवानी, ज्वालागंज के चुनिंदा 20 परिवारों में राशन पहुंचा कर असहाय लोगों की आटा दाल चावल तेल नमक आलू प्याज साबुन मंजन हल्दी धनिया मिर्च अन्य जरूरत की सामग्री देकर मदद की। उन्होंने कहा कि समाज के अंतिम छोर में खड़े हर उस जरूरतमंद की सहायता करने का जो बीड़ा रोटी घर ने उठाया है उसका अक्षरशः पालन किया जा रहा है। कहा कि आगे भी जब तक लॉकडाउन रहेगा तब तक राशन वितरण का कार्य अनवरत जारी रहेगा। उन्होंने समाज के संपन्न तबके से अपील करते हुए कहा कि अपने आसपास के जरूरतमंद लोगों तक यथा उचित सहायता अवश्य कराएं। उन्होंने समाज के लोगों से अपने घरों में रहकर लॉक डाउन का पालन करने की भी सलाह दी। इस अवसर पर वीरेंद्र पांडेय, विवेक मिश्रा, किशन शुक्ल,  अंकित सिंह चैहान, अंकित पांडेय, सजल शुक्ल भी मौजूद रहे।

No comments