Latest News

क्या है और कैसे करता है काम Ayogya Setu

नई दिल्ली, संजय सक्सेना - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में देशवासियों से 'आरोग्य सेतु एप' डाउनलोड करने का आग्रह किया। यह एप कोरोनावायरस को नियंत्रित करने और उसकी जानकारी सामान्य लोगों तक पहुंचाने के लिए बनाया गया है। यह खास एप आसपास मौजूद कोरोना पॉजिटिव लोगों के बारे में पता लगाने में भी मदद करेगा।
डाउनलोड किए जाने के बाद यह एप पूछता है कि क्या आपको खांसी, बुखार या सांस लेने में परेशानी आदि है। यदि आपको ऐसी कोई समस्या नहीं है, तो आप ग्रीन जोन में रहेंगे। यह एप ब्लू टूथ और लोकेशन को ऑन रखने को कहता है। जब भी आप किसी भीड़ भाड़ वाले स्थान पर जाते हैं। यह एप ब्लू टूथ से आस पास के मोबाइल से संदेश लेता देता रहता है। जब आप किसी के पास खड़े हैं और पास खड़ा व्यक्ति भी ग्रीन जोन वाला नार्मल व्यक्ति ही है पर अगर वह व्यक्ति आज से 10 दिनों बाद किसी कारण से कोरोना पॉजिटिव हो जाएगा तो यह एप आपको तुरंत सतर्क कर देगा।
ऐसे में आप अपनी जांच सुनिश्चित करवा सकते हैं। यह एप आपको हॉट स्पॉट की सूचना भी दे देगा, ताकि आप रास्ता बदल लें। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने यह एप लांच किया है। 'आरोग्य सेतु' नाम का यह एप प्रत्येक भारतीय के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ा है। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "यह अत्याधुनिक ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी, तकनीक, गणित के सवालों को हल करने के नियमों की प्रणाली अलगोरिथ्म और कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग करते हुए, दूसरों के साथ उनकी बातचीत के आधार पर इसकी गणना करेगा।"
लॉन्च होने के बाद से आरोग्य सेतु एप को कुछ ही दिन में एक करोड़ से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं। एंड्रॉयड और आईफोन दोनों तरह के स्मार्टफोन पर इसे डाउनलोड किया जा सकता है। 11 भाषाओं में उपलब्ध, ऐप अखिल भारतीय स्तर पर उपयोग के लिए तैयार किया गया है। इसकी बनावट ऐसी है, जो अधिक काम का भार भी ले सकती है।

No comments