Latest News

कोरोना कहर:- क्या यूपी के इन 32 जिलों में हफ्तेभर बाद मिलेगी लॉकडाउन में छूट ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन को 03 मई तक बढ़ाने का फैसला लिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार सुबह दस बजे राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि सारे राज्यों के सुझावों को ध्यान में रखते हुए तय किया गया है कि लॉकडाउन को तीन मई तक बढ़ाना पड़ेगा। इस दौरान लोगों को अपने घरों में रहना होगा। नए क्षेत्रों में कोरोना को रोकना होगा।  प्रधानमंत्री मोदी ने किा कि 20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने और हर राज्य को और बारीकी से परखा जाएगा। एक हफ्ते तक और सख्ती होगी। जो क्षेत्र अपने यहां हाॅटस्पाॅट नहीं बढ़ने देंगे वहां पर  20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति और छूट दी जा सकती है। इसको लेकर कल एक विस्तृत गाइडलाइंस जारी होगी।
आमजा भारत कार्यालय संवाददाता:- ऐसे में अब यूपी के उन जिलों में जहां कोरोना हॉटस्पॉट नहीं घोषित हुआ वहां के लोगों में उम्मीद जग गई है कि उन्हें 20 अप्रैल के बाद कुछ राहत मिल सकती है।  बता दें कि यूपी 75 जिलों में से अब तक 43 जिले में ही कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। ऐसे में 32 जिले के लोगों अब 20 अप्रैल का इंतजार कर रहे हैं।

यूपी के कई जिलों में नहीं  है हॉटस्पॉट :
चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना का कहर पूरे देश में है। उत्तर प्रदेश में पश्चिमी यूपी इसका हॉटस्पॉट बन गया है। उत्तर प्रदेश में 70 फीसदी केस सिर्फ वेस्ट यूपी में हैं। इसमें भी छह जिलों नोएडा, मेरठ, आगरा, बुलंदशहर, सहारनपुर और गाजियाबाद के सात लोगों की चेन से सबसे ज्यादा संकमित मिले। प्रदेश की पांच मौत में से तीन सिर्फ यहीं हुईं। यहां चंद लोगों की नासमझी ने सैकड़ों लोगों की जिंदगी दांव पर लगा दी। कोई बाहर घूमकर आया और छिपकर घर में बैठ गया तो कोई संक्रमित होते हुए भी अपना व्यापार करता रहा। नतीजन, इनके लोग इनके संपर्क में आते गए और संक्रमित होते चले गए।

 इन जिलों में है हॉटस्पॉट : 
यूपी सरकार ने कुछ दिन पहले आगरा, गाजियाबाद, लखनऊ, कानपुर , नोएडा, वाराणसी, महाराजगंज, सहारनपुर, बस्ती, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, शामली, सीतापुर, पीलीभीत जिले के कई हॉटस्पॉट सील कर दिए थे। 

 क्या है हॉटस्पॉट : 
हॉटस्पॉट का अर्थ यह है कि वह जगह जहां सबसे अधिक कोरोना पॉजिविट मरीज पाए जा रहे हैं। लखनऊ, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, आगरा, कानपुर, वाराणसी, शामली, मेरठ, सीतापुर, बरेली, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, बस्ती, सहारनपुर और महाराजगंज ऐसे जिले हैं यहां मरीजों की संख्या ज्यादा है। इन जिलों के वे मोहल्ले पूरी तरह सील होंगे जहां सबसे  ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। उन मोहल्लों में सब कुछ बंद रहेगा। इन जिले के दूसरे मोहल्ले खुले रहेंगे।

No comments