Latest News

लॉकडाउन कानपुर :- भूख से तिलछते 300 लोगों ने घेरी पुलिस चौकी

हाथ जोड़कर बोले दरोगा चाहे भीख मांगू सबको खिलाऊंगा खाना कानपुर में कल्याणपुर आवास विकास तीन में चल रही पार्षद की जनता रसोई को बंद कराने का आरोप पुलिस पर लगा है। पार्षद की रसोई बंद होने की सूचना पर क्षेत्र के लगभग 300 भूखे लोग आवास विकास तीन चौकी पहुंच गए। जहां पर चौकी इंचार्ज आनंद द्विवेदी ने कुछ लोगों को लंच पैकेट मुहैया करवा दिए और कुछ लोगों के नाम लिखकर घर पर लंच पैकेट भेजने का आश्वासन देकर भीड़ को रवाना किया। चौकी इंचार्ज ने लोगों को समझाते हुए कहा कि आप सभी को घर पर खाना पहुंचेगा भले ही मुझे भीख मांग कर लाना पड़े। 
आमजा भारत कार्यालय संवाददाता:- शहर में लॉकडाउन लागू होने के बाद से वार्ड 23 के पार्षद संजय यादव क्षेत्र के आवास विकास तीन स्थित गजानन स्कूल में जनता रसोई चलवा रहे थे। गुरुवार को पार्षद ने अपनी जनता रसोई बंद कर दी। पार्षद संजय यादव ने बताया बुधवार शाम आवास विकास तीन चौकी इंचार्ज 6-7 सिपाहियों के साथ आए और बोले अपनी रसोई का काम बंद कर दो नहीं तो सभी को उठाकर हम बंद कर देंगे।
बताया कि पुलिस के भय से हमारा कोई भी कार्यकर्ता आज नहीं आया, लिहाजा रसोई बंद करनी पड़ी। यह भी कहा कि कोई उच्च अधिकारी हम पर कार्रवाई ना होने का आश्वासन देगा, तभी हम रसोई चालू करेंगे । दोपहर तक पार्षद द्वारा घरों में खाना नहीं पहुंचा तो जनता ने पार्षद को फोन कर लंच पैकेट की मांग की।

पार्षद ने जनता से पुलिस द्वारा कैंटीन बंद कराने की बात कही। कैंटीन बंद कराए जाने से आक्रोशित जनता दोपहर लगभग एक बजे चौकी पहुंची और इंचार्ज से खाने की मांग करने लगी। चौकी इंचार्ज आनंद द्विवेदी ने कुछ लोगों के बीच लंच पैकेट का वितरण किया और जो शेष लोग रह गए थे, उनका नाम नोट किया और घर खाना पहुंचाने का आश्वासन दिया।
चौकी इंचार्ज आनंद द्विवेदी ने बताया कि हमने पार्षद को रसोई बंद करने के लिए नहीं बोला है। उन्होंने स्वयं ही बंद की है। बुधवार को पार्षद पर लॉकडाउन का उल्लंघन करने का मुकदमा भी पंजीकृत किया गया है। पार्षद के दो साथियों पर शराब की बिक्री करने का आरोप है, फिलहाल दोनों फरार हैं।
सब इंस्पेक्टर आनंद द्विवेदी ने कहा मुझे चाहे भीख मांग कर लेना पड़े लेकिन अपने क्षेत्र में किसी को भी भूखा नहीं सोने दूंगा, सभी को खाना उपलब्ध कराउंगा। पार्षद के जिन साथियों पर शराब बिक्री का आरोप है, पुलिस ने उनको जनता रसोई में सहयोग करने का पास बना कर दिया था।
साहब जब से लॉकडाउन लागू हुआ है। पार्षद खाना घर भिजवा देते थे। आज खाना घर नहीं आया, पार्षद को फोन किया तो कहने लगे पुलिस ने कैंटीन बंद करवा दी है। चौकी आने पर यहां से एक पैकेट मिला है घर में चार लोग हैं। बाकी लोगों के पैकेट घर पहुंचाने की बात कह रहे हैं। - कमल

पार्षद को खाने के लिए फोन किया तो उन्होंने बताया हमारी कैंटीन बंद हो गई है। हम लोग चौकी आए हैं, दरोगा जी लंच पैकेट बांट रहे थे। हमारा नंबर आते-आते खत्म हो गए। नाम नोट कर लिया है , कह रहे हैं लंच पैकेट घर भेज देंगे। अब देखिए आता है कि नहीं। - पूजा शर्मा

No comments