Latest News

#तबलिगी जमात : 24 घंटे में सीएमओ के सामने हो जाएं पेश, वरना कार्रवाई

बिजनौर, (संजय सक्सेना) जिलाधिकारी रमाकांत पांडे ने निर्देश दिया है कि ऐसे व्यक्ति जो संक्रमण क्षेत्र या संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए हों या जो निजामुद्दीन दिल्ली तबलिगी जमात सम्मेलन में शामिल हुए हों या शामिल होने वालों के संपर्क में आए हों तथा जिन को किसी भी प्रकार के संक्रमण की संभावना हो, ऐसे लोगों को स्वेच्छा से बिना किसी देरी अथवा लापरवाही के 24 घंटे के अंदर अपनी चिकित्सीय जांच के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी के सामने प्रस्तुत हो जाएं। 
जिलाधिकारी रमाकांत पांडे ने बताया कि वर्तमान में पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण की विभीषिका को रोकने के लिए लॉकडाउन किया गया है। इस संक्रमण से बचाव के लिए
संक्रमित व्यक्ति का चिन्हीकरण एवं उसका नियम अनुसार चिकित्सिय परीक्षण एवं उपचार आवश्यक है। उन्होंने बताया कि इस कार्य में थोड़ी सी भी चूक होने पर उसका संक्रमण अत्यंत तीव्र गति से होता है और संक्रमित व्यक्ति से कोरोनावायरस परिवार, समाज एवं कार्यस्थल पर साथ में काम करने वाले लोगों में बहुत तेजी के साथ फैलता है, जिसके नतीजे में वह भी गंभीर रूप से बीमार पड़ सकते हैं और इस बीमारी से मृत्यु होने तक की संभावना बनी रहती है।
उन्होंने कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति या वे सभी व्यक्ति जो संक्रमण क्षेत्र या संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए हैं या जो निजामुद्दीन दिल्ली तबलिगी जमात सम्मेलन में शामिल हुए हो या शामिल होने वालों के संपर्क में आए हो तथा जिन को किसी भी प्रकार के संक्रमण की संभावना हो, ऐसे लोग स्वेच्छा से बिना किसी देरी अथवा लापरवाही किए 24 घंटे के अंदर अपनी चिकित्सीय जांच के लिए अपने जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के सामने प्रस्तुत हो जाए। उन्होंने सचेत करते हुए कहा कि ऐसा ना करना महामारी अधिनियम 1897 की धारा (2),(3),(4) एवं उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 विनियमावली 2020 के प्रावधानों का उल्लंघन माना जाएगा तथा उल्लंघन करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध अधिनियम एवं विनियमावली के संगत प्रावधानों के अंतर्गत कठोर कार्यवाही की जाएगी।

No comments