Latest News

लाइव कोरोना वायरस कानपुर: शहर में 12 और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, संख्या हुई 91

शहर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, बुधवार देर शाम आई रिपोर्ट में 12 और लोग पॉजिटिव मिले हैं। इसके साथ ही शहर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 91 हो गई है। इसमें दो लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक बुजुर्ग और छह जमातियों के ठीक होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है। इस तरह शहर में 82 कोरोना पॉजिटिव एक्टिव केस हो गए हैं। बुधवार शाम को आई रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव मिलने वालों में किदवई नगर क्षेत्र के गल्ला व्यापारी की पत्नी समेत तीन स्वजन हैं, वहीं रोशन नगर के दिवंगत प्रॉपर्टी डीलर के संपर्क में आने वाला व्यक्ति है। इसके अलावा संक्रमितों के संपर्क में आए कुलीबाजार, चौबेपुर, आलादीनपुर (बिठूर), कर्नलगंज और मछरिया के मदरसे का छात्र शामिल हैं।घाटमपुर में शिविर लगाकर लिए कोरोना संदिग्धों के सैंपल
आमजा भारत कार्यालय सवांददाता:- घाटमपुर नगर में बुधवार की दोपहर शिविर लगाकर स्वाथ्य टीम ने कोरोना संदिग्धों के नेजल व थ्रोट सैंपल जांच के लिए। इनमें इस्लामियां मदरसा से 14 और बरीपाल की बड़ी मस्जिद में 10 संदिग्ध शामिल हैं। साथ ही ट्रैवल हिस्ट्री व जमातियों के संपर्क में आने वालों 24 लोगों की सूची भी तैयार की है।

महिला दारोगा के पिता और आढ़ती की पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव
कोरोना वायरस का कहर फैलने लगा है। शहर में महिला दारोगा के पिता और चकरपुर के आढ़ती की पत्नी के संक्रमित मिलने के बाद संख्या अब 79 हो गई है। इसमें दो लोगों की मौत हो चुकी है और एक बुजुर्ग व छह जमाती ठीक होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। इस तरह शहर में एक्टिव केस की संख्या 70 है, जो हैलट और सरसौल सीएचसी के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। वहीं कोरोना संक्रमण की आंच के दायरे में दो अस्पताल और एक पैथालॉजी लैब भी आ गई है।

मंगलवार को कुल 135 नमूने लिए गए। साथ ही सोमवार को लिए गए नमूनों में से 70 की रिपोर्ट आई है, जिसमें से 69 निगेटिव निकले हैं। रेलबाजार थाने में तैनात महिला दारोगा के 62 वर्षीय पिता इटावा की सैफई तहसील की लरखौर पंचायत के एक गांव निवासी हैं। कैंसर पीड़ित होने के चलते फा‌र्च्यून अस्पताल में इलाज चल रहा है।

जांच रिपोर्ट में बेगमपुरवा निवासी 45 वर्षीय महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गईं। महिला हैलट के कोविड-19 अस्पताल में भर्ती हैं। उनके पति चकरपुर मंडी के सब्जी आढ़ती हैं। महिला की तीन बेटिया हैं। पुत्री ने बताया कि 18 अप्रैल को मां के सीने में दर्द और सास लेने में दिक्कत होने पर लक्ष्मीपत सिंहानिया हृदय रोग संस्थान (कार्डियोलॉजी) की इमरजेंसी लेकर गए थे। डॉक्टर ने चेकअप के बाद सामान्य बताया तो वहां से रीजेंसी हॉस्पिटल ले आए। वहा बाहर बने स्क्रीनिंग सेंटर में डॉक्टर ने रिपोर्ट देखने के बाद कोरोना का संदेह जताते हुए हैलट भेज दिया। हैलट में कोरोना संदिग्ध मानते हुए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया गया और नमूना लेकर जांच कराई गई थी।

No comments