Latest News

Lockdown Effect : सील की गईं सभी सीमाएं, धारा 144 का उल्लंघन करने पर 454 के खिलाफ मुकदमा

जनता कफ्र्यू के अगले दिन से शहर में लोगों ने लापरवाही बरतनी शुरू कर दी, जबकि जंग अभी शुरू ही हुई है। सुबह से चहल पहल नजर आई और तमाम अनावश्यक दुकानें भी खुली दिखीं। दोपहर बाद पुलिस प्रशासन ने लॉकडाउन पर सख्ती से अमल कराना शुरू किया। विभिन्न थानों में 454 लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन के 84 मुकदमे दर्ज किए गए तो देर शाम जिले की सीमाएं सील करा दी गईं। बिना आवश्यक कारण जिले में आने पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई है।
आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी प्रतिष्ठान बंद करने के हैं आदेश

कानपुर गौरव शुक्ला:- कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सोमवार से शहर में तीन दिन का लॉकडाउन किया गया है। आवश्यक सेवाओं के अलावा सभी बाजार, प्रतिष्ठान और दुकानों को बंद रखने के आदेश दिए गए हैं। सफल जनता कफ्र्यू के बावजूद सोमवार सुबह अलग नजारा देखने को मिला। सभी इलाकों में भीड़भाड़ नजर आई। दूध, ब्रेड, राशन की दुकानों के अलावा पान, बीड़ी, सिगरेट व शराब की दुकानें भी खुल गईं। बाहरी जिलों से भी वाहन बेरोक टोक धड़ल्ले से आते रहे। करीब 11 बजे अधिकारियों को लॉकडाउन में लोगों की लापरवाही का पता लगा तो सबसे पहले दुकानों को बंद कराया गया। इसके बाद पुलिस ने बेवजह सड़कों पर घूमने वालों पर सख्ती शुरू की।

60 बाइक भी की गईं सीज

शहर के विभिन्न थानों में धारा 144 के उल्लंघन में 84 मुकदमे दर्ज कर 454 लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की गई। 230 लोगों को मौके पर ही गिरफ्तार कर थाने लाया गया और रात में चेतावनी देकर जमानत पर छोड़ा गया। इस दौरान 60 बाइक भी सीज की गईं। इसी दौरान अधिकारियों ने जिले की सभी सीमाओं को भी सील करा दिया। शुक्लागंज से आने वाले दोनों पुलों के पास बैरियर लगा दिए गए। इसी तरह गंगा बैराज, लखनऊ हाईवे, आगरा हाईवे, प्रयागराज हाईवे, जीटी रोड पर मकनपुर के आगे बैरियर लगा दिए गए। वाहन सवारों को किसी समारोह या भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों में नहीं आने दिया गया। पुलिसकर्मियों से कहा गया कि वह जरूरतमंद को ही आने दें।

पुलिसकर्मियों से हुई नोकझोंक

बिल्हौर व भौंती में सीमाएं सील किए जाने के दौरान पुलिस की कुछ वाहन सवारों से नोकझोंक हुई। कुछ वाहन सवार वापस जाने को तैयार नहीं हुए। अपनी ऊंची पहुंच व नेताओं से रिश्तों का हवाला देने लगे। अधिकारियों ने समझाकर उन्हें वापस भेजा और कहा कि पुलिस जनता के लिए ही ड्यूटी कर रही है। वहीं शाम को झकरकटी, भूसाटोली आदि क्षेत्रों में दुकानें खुली। पुलिस ने दुकानें बंद कराई तो कुछ विरोध हुआ, जिसके बाद पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी।

इनका ये है कहना

लोगों की आवाजाही रोकने और भीड़भाड़ कम करने के लिए ही सीमाएं सील कराई गई हैं, लेकिन अति जरूरी कारणों से आने वाले लोग वाहन समेत आ सकते हैं। इस बाबत संबंधित थानेदारों को निर्देश दिए गए हैं।

-अनंत देव, एसएसपी

No comments