Latest News

सड़कों पर घूम रही भीड़ लॉक डाउन को कर रही बेअसर

जरूरत की जगह लोग सड़कों पर कर रहे मौज मस्ती
बाहरी लोगों की आमद से कोरोना संक्रमण का कई गुना बढ़ा खतरा

फतेहपुर, शमशाद खान । कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए देश भर में किया गया लॉक डाउन जनपद में बेअसर दिखाई दे रहा है। शहर के सभी मार्गो पर पुलिस के लगाए गए बैरियर के बाद भी लगभग सभी मार्गो पर दिन भर वाहनों के अलावा पैदल आने जाने वालों लोगो का तांता लग रहता है। वही गलियों में बकायदे लोग मार्गो के इर्द गिर्द बैठे हुए दिखाई देते है। लॉक डाउन के एक दो दिनों तक तो व्यवस्था ठीक ठाक दिखाई दी लेकिन जैसे ही महानगरों से निकलने वाली भीड़ छोटे शहरों की तरफ बढ़ी तो धीरे धीरे प्रशासनिक व्यवस्थायें भी ढीली होती चली गयी। जिसका नतीजा रहा कि पुलिस के बैरियर मात्र शोपीस बनकर रह गए है। पहले बैरियरों की जगह गलियों से निकलने वाले लोग अब बेखौफ होकर बैरियर धड़ल्ले से पार कर रहे है। दुनिया भर के देशो में वैश्विक आपदा बनकर कहर ढाने वाले कोरोना वायरस के देश में मरीजों की संख्या बढ़ते देखकर देशवासियो को कोरोना वायरस से बचाने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 14 अप्रैल तक लॉक डाउन की घोषणा की गयी थी। पीएम की घोषणा के बाद भी लॉक डाउन का पालन कराये जाने के लिये पुलिस कर्मियों द्वारा कमर कस ली
लाक डाउन में पैदल अपने गन्तव्य को जाते लोग।
गयी थी। शहर में जगह जगह बैरियर लगाए जाने के साथ ही जगह जगह पुलिस कर्मियों की तैनाती करके आवाजाही को रोक दिया गया था। दो दिनों तक तो लॉक डाउन क पालन होता हुआ दिखाई दिया जिसके बाद महानगरों से निकली हुई भीड़ ने लॉक डाउन तोड़ दिया। दूर दराज के शहरों से अपने घरो को जाने के लिये निकली हुई भीड़ की आमद रफ्त के बाद शहर के लोग भी सड़को पर दिन भर दिखाई देने लगे है। एक तरह सरकार लोगो मे कोरोना वायरस संक्रमण फलने से रोकने के लिये चिंता कर रही है। जबकि दूसरी ओर बिना किसी जरूरत के सड़को पर घूमने वाली भीड़ कोरोना संक्रमण को बढ़ावा देती नजर आ रही है। लोगो का कहना रहा कि यदि सड़को पर बिना जरूरत के घूमने वाली भीड़ को नही रोका गया तो कोरोना संकट से लड़ने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश भर में किया गया लॉक डाउन अपना मकसद पूरा नही कर सकेगा और देश मे कोरोना संक्रमण से रोकना सम्भव नही होगा।

No comments