Latest News

गुटखा माफिया के तीन प्रतिष्ठानों पर प्रशासन की छापामार कार्रवाई

उरई (जालौन), अजय मिश्रा । शासन-प्रशासन की आंखों में धूल झोंककर प्रतिबंधित तम्बाखू मिश्रित गुटखा का उत्पादन कर उसकी धड़ल्ले से बिक्री करने में मशगूल संजय गोहन के नाम से बिख्यात हो चुके गुटखा कंपनी मालिक के रामनगर स्थित एक प्रतिष्ठान पर प्रशासनिक कार्रवाई के दौरान भारी संख्या में जहां गुटखा में प्रयुक्त सामग्री बरामद हुयी तो वहीं कार्रवाई के बाद गुटखा कंपनी मालिक भूमिगत हो गया। प्रशासनिक कार्रवाई उसके तीन अलग-अलग प्रतिष्ठानों पर हुई।

राज गुटखा फैक्ट्री में मशीन को सीज करती खाद्य अधिकारी।
मिली जानकारी के अनुसार अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह, एसडीएम सदर सत्येंद्र सिंह, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट गुलाब सिंह, ईडीएम पुष्पेंद्र सिंह, जीएसटी के अधिकारी, अशोक शाही सेनेटरी फूड्स निरीक्षक, श्रम प्रवर्तन विभाग के अधिकारियों की टीम शुक्रवार को अपरान्ह में जिला मुख्यालय पर तम्बाखू मिश्रित गुटखा के लिये विख्यात संजू गोहन के एक के बाद एक तीन प्रतिष्ठानों पर छापामार कार्रवाई को अंजाम दिया गया जहां से दो दर्जन से अधिक मजदूरों व अन्य कर्मचारियों को भी गुटखा बनाने पकड़ा गया। उक्त गुटखा माफिया के पहले प्रतिष्ठान से 80 बोरा प्रतिबंधित मिश्रित गुटखा, 70 किलो पन्नी, दूसरी में 55 बोरा मिश्रित गुटखा व गुटका पन्नी 30 किलो, तीसरे प्रतिष्ठान में 75 बोरा प्रतिबंधित गुटखा व पन्नी बरामद हुयी है। इसके साथ ही एक गुटखा फैक्ट्री में मशीनें भी लगी पायी गयी। उक्त कार्रवाई की भनक लगते ही गुटखा माफिया संजू गोहन भूमिगत हो गया। बताया जाता है कि जिला मुख्यालय में अनेकों स्थानों पर प्रतिबंधित गुटखे का उत्पादन व उसकी बिक्री का ऐसा मकड़जाल है जो लंबे समय से जनपद जालौन फलता फूलता चला आ रहा है। फिलहाल तो प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी को बुलाकर तीनों गुटखा फैक्ट्रियों को सीज करने की प्रक्रिया देर शाम तक चल रही थी।


No comments